पीओके में इमरान का बॉयकाट

Imran Khan
इस्लामाबाद
पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने शुक्रवार को पीओके की राजधानी मुजफ्फराबाद में रैली कर भारत और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ जमकर जहर उगला। हालांकि, इमरान  की यह रैली पूरी तरह फ्लॉप रही। पीओके के पॉलिटिकल ऐक्टिविस्ट अमजद अयूब मिर्जा ने बताया कि रैली पूरी तरह फ्लॉप रही। पीओके में इमरान खान का बायकाट किया किया  गया। अयूब मिर्जा बताया कि लोगों को रावलपिंडी और ऐबोटाबाद से ट्रकों में भर-भरकर रैली में लाया गया था।
इमरान ने खुलेआम पीओके के युवाओं को इस्लाम के नाम पर घुसपैठ के लिए उकसाया। इमरान ने कहा कि मुझे आपके जज्बे का पता है कि आप लाइन ऑफ कंट्रोल की तरफ  जाना चाहते हैं। नौजवानों मुझे पता है आप में जज्बा और जुनून है। लेकिन अभी लाइन ऑफ कंट्रोल की तरफ नहीं जाना, जब तक मैं आपको नहीं बताऊंगा... मैं आपको बताऊंगा  कब जाना है, अभी नहीं आपको जाना है। पहले मुझे यूनाइटेड नेशन्स जाने दो। दुनिया के लीडर्स को बताने दो। कश्मीर का केस लड़ने दो। कश्मीर का मसला हल नहीं किया, तो   इसका असर पूरी दुनिया पर जाएगा

पीओके के ऐक्टिविस्ट ने खोली इमरान की पोल
इमरान ने बड़े जलसे का ऐलान किया था, लिहाजा भीड़ दिखाने के लिए पाकिस्तान के अलग-अलग हिस्सों से लोगों को ट्रकों में भरभर कर रैली में लाया गया था। बताया जाता है  कि ये भाडे के लोग थे। इसकी पोल खोलते हुए पीओके के पॉलिटिकल ऐक्टिविस्ट अमजद अयूब मिर्जा ने कहा कि इमरान की रैली पूरी तरह फ्लॉप रही है और पीओके के लोगों ने इसका बहिष्कार किया है। मिर्जा ने बताया कि मुजफ्फराबाद में इमरान की रैली फ्लॉप रही है। रैली के लिए ऐबोटाबाद और रावलपिंडी से लोगों को ट्रकों में भरकर लाया गया। पीओके  के लोगों ने रैली का पूरी तरह बहिष्कार किया। इसके लिए दुनिया को यहां के लोगों को बधाई देनी चाहिए।

मजहब की आड़ ले इमरान ने उगला जहर
जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म करने के भारत के आंतरिक मामले को लेकर अंतर्राष्ट्रीय मंचों पर रोना रोने वाला पाकिस्तान समर्थन नहीं मिलने से हताश हो सांप्रदायिक कार्ड  खेल रहा है। इमरान ने आरोप लगाया कि पीएम नरेंद्र मोदी की योजना भारत से मुस्लिमों के 'नस्लीय सफाए' की है। हर तरफ से निराशा के बाद मुस्लिम कार्ड खेलते हुए  पाकिस्तानी पीएम ने कहा कि दुनियाभर के 1.2 अब मुसलमान कश्मीर के हालात देख रहे हैं। जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने से बौखलाए पाकिस्तान की अक्ल ठिकाने  आ गई है। अब उसने भी मान लिया है कि कश्मीर मामले को अंतर्राष्ट्रीय अदालत में नहीं ले लाया जा सकता है। पाकिस्तान यह समझ चुका है कि अगर वो कश्मीर मसले को  अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय लेकर जाता है, तो उसको मुंह की खानी पड़ेगी।
कश्मीर मामले को अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय में ले जाने की ख्वाहिश पाल रहे पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को अपने ही मुल्क के कानून मंत्रालय से करारा जवाब मिला है।  शुक्रवार को पाकिस्तान के कानून मंत्रालय ने इमरान खान को बताया कि पाकिस्तान सरकार कश्मीर मसले को अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय नहीं ले जा सकता है। भारत और पाकिस्तान के  बीच कोई ऐसा समझौता नहीं हैं, जिसके तहत इस मामले को अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय ले जाया जा सके।

पाक पर दुनिया नहीं करती विश्वास
इमरान खान सरकार में गृह मंत्री ब्रिगेडियर (सेवानिवृत्त) एजाज अहमद शाह ने कबूल किया है कि कश्मीर मुद्दे पर पाकिस्तान अंतर्राष्ट्रीय बिरादरी से समर्थन पाने में नाकाम रहा है।  उन्होंने कहा कि इस्लामाबाद के प्रयासों के बावजूद दुनिया भारत की बात पर ही विश्वास करती है। उनके इस बयान से पाकिस्तान के लिए शर्मिंदगी वाली स्थिति बन गई है। एक  साक्षात्कार में शाह ने कहा कि पाकिस्तान में सत्तासीन बड़े लोगों ने देश को बर्बाद कर दिया है।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget