कार्पेट इंडस्ट्री की हालत खस्ता

Kashmir Carpets
नई दिल्ली
जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटे एक महीना हो चुका है। इस एक महीने में जम्मू-कश्मीर का कारोबार पूरी तरह ठप पड़ गया है। कश्मीर से माल देश के दूसरे हिस्सों तक न पहुंच  पाने के कारण कारोबारियों को करोड़ों रुपए का नुकसान हो रहा है। कश्मीर की बड़ी इंडस्ट्रीज में से एक कारपेट इंडस्ट्री का तकरीबन 100 करोड़ रुपए का माल कश्मीर में डंप पड़ा है। 800 से 900 रुपए पेटी की कीमत वाले सेब को खरीदार नहीं मिल रहे हैं। इसकी कीमत 200 से 300 रुपए पेटी पर आ गई है।

एक यूनिट से होता था 2-3 करोड़ रुपए का कारोबार
कश्मीर के पुलवामा में कारपेट का काम करने वाले मोहम्मद आजम ने बताया कि अगस्त से पहले तक उनका कारोबार महीने में 2 से 3 करोड़ रुपए का हो जाता था, लेकिन एक  महीने से एक रुपए का भी कारोबार नहीं हुआ है। पूरे पुलवामा में कारपेट मैन्युफैक्चरिंग की तकरीबन 300 यूनिट हैं। इन सभी यूनिट्स का मासिक कारोबार 2-4 करोड़ रुपए का था,   लेकिन फिलहाल सभी ठप पड़ी हैं। उन्होंने बताया कि कुछ लोगों ने यूनिट्स को चालू करने की कोशिश की, लेकिन उन्हें बंद करा दिया गया। कारोबार ठप पड़े होने की सूरत में  कारपेट यूनिट का बिल, बैंक की किस्त दे पाना मुश्किल है। उन्हें महीने में 6.5 लाख रुपए इन दो चीजों में चुकाने पड़ते हैं। ऐसे में वे इलाहाबाद के पास भदोई में अपने घर लौट  आए हैं। आजम के मुताबिक, कारपेट कारोबार में लगे सभी कारीगरों में से 90 फीसदी कश्मीर के बाहर के लोग हैं, जिनमें से अधिकतर लोग लौट गए हैं।

कश्मीर में तकरीबन 25 से 40 हजार कार्पेट कारीगर
देश के कारपेट एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल के चेयरमैन सिद्ध नाथ सिंह ने बताया कि कश्मीर में तकरीबन 25 से 40 हजार कारपेट कारीगर हैं। वहां से सालाना 300 से 400 करोड़  रुपए का कारोबार होता है, लेकिन जब से कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाया गया है, तब से कारोबार ठप पड़ गया है। कश्मीर में कर्फ्यू लगा है, लोगों के पास कच्चा माल नहीं है, ऐसे  में लोग कारपेट तैयार ही नहीं कर पा रहे हैं। लोगों ने पहले से ही जो कारपेट बना रखे थे, उन्हें भी बाजार में नहीं उतार पा रहे हैं। ऐसे में संभावना है कि कश्मीर में 80 से 100  करोड़ रुपए के कालीन डंप पड़े हैं। ट्रासंपोर्ट के साधनों की कमी के चलते कश्मीरी कारीगर अपना माल दिल्ली लेकर नहीं आ पा रहे हैं, जहां से इस माल को आगे एक्सपोर्ट किया जाता है।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget