यूपी में अब बसपा के तीन को-ऑर्डिनेटर

लखनऊ
लोकसभा चुनाव 2019 में समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन के बाद भी अपेक्षित परिणाम न मिलने पर बहुजन समाज पार्टी अब उत्तर प्रदेश में अकेले ही सभी चुनाव लड़ेगी। प्रदेश में 13 सीट  पर होने वाले विधानसभा उप चुनाव के लिए अपने प्रत्याशी घोषित करने के साथ ही बसपा प्रचार में भी लगी है। बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती भी पार्टी के पदाधिकारियों के साथ ही  अकसर बैठक कर रही है। गुरुवार को भी बसपा प्रदेश कार्यालय में मायावती ने उत्तर प्रदेश विधानसभा उपचुनाव को लेकर अहम बैठक की। बैठक में सभी जिला अध्यक्ष के साथ विधानसभा  अध्यक्ष, पूर्व सांसद, विधायक व सभी पदाधिकारी थे। मायावती ने पार्टी के सभी छोटे-बड़े पदाधिकारियों को बुलाया। बसपा मुखिया मायावती ने इस बैठक में उप चुनाव जीतने और पार्टी को  मजबूत करने का मंत्र दिया। मायावती ने बैठक में विधानसभा उप चुनाव पर भी फोकस किया। उन्होंने प्रदेश में तीन को -ऑर्डिनेटर भी बनाए हैं। प्रदेश अध्यक्ष मुनकाद अली के साथ पूर्व प्रदेश  अध्यक्ष आरएस कुशवाहा तथा भीमराव आंबेडकर को पार्टी ने को-ऑर्डिनेटर बनाया है। प्रदेश में अब एक मंडल में एक ही जोन इंचार्ज होगा। पहले तीन मंडल का एक जोन इंचार्ज होता था। बसपा  बामसेफ को मंडल स्तर से खत्म कर दिया है। जिला स्तर तथा विधानसभा स्तर पर बामसेफ को बरकरार रखा गया है। बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती ने उत्तर प्रदेश में पार्टी के  जमीनी स्तर पर चल रहे कार्यकलापों व सर्वसमाज में पार्टी के जनाधार को बढ़ाने की प्रगति आदि की गहन समीक्षा की। इसके साथ ही विधानसभा उपचुनाव सहित पार्टी की आगे की तैयारियों के  संबंध में भी जरूरी दिशा-निर्देश दिए। बैठक में विधानसभा उपचुनावों का उल्लेख करते हुए मायावती ने कहा कि इस बार खास रणनीति के तहत इन उपचुनावों को लड़ने के लिए पार्टी के पुराने व  वरिष्ठ चेहरों को ही ज्यादातर चुनाव मैदान में उतारा गया है, जिनको जिताने के लिए कार्यकर्ता तथा समर्थकों को हर प्रकार का सहयोग करना होगा। बहुजन समाज पार्टी ने उपचुनावों को लेकर  बीते दिनों में आयोजित राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में 13 सीटों पर होने वाले विधानसभा उपचुनाव अकेले लड़ने का ऐलान किया। उस दौरान 11 प्रत्याशियों के नामों का ऐलान भी कर दिया  गया था। राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक में बसपा सुप्रीमो मायावती ने 13 विधानसभा सीटों पर अकेले चुनाव लड़ने का ऐलान किया। यह पहला मौका है, जब बसपा उपचुनाव लड़ने जा रही है। बसपा  ने 13 में से 11 सीट पर अपने प्रत्याशी घोषित कर दिए हैं। घोसी से कय्यूम अंसारी, मानिकपुर से राजनारायण निराला, हमीरपुर से नौशाद अली, जैदपुर से अखिलेश आंबेडकर, बलहा से रमेश  गौतम, टूंडला से सुनील कुमार चित्तौड़, लखनऊ कैंट से अरुण द्विवेदी, प्रतापगढ़ सदर से रंजीत सिंह पटेल, रामपुर से जुबेर मसूद खां और कानपुर से देवी प्रसाद तिवारी। पार्टी ने आंबेडकर नगर  से राकेश पांडेय को प्रत्याशी घोषित किया था। उनके चुनाव लड़ने से इंकार करने पर अब पार्टी को जलालपुर के साथ सहारनपुर की गंगोह पर सीट पर प्रत्याशी घोषित करना है। बैठक में  मायावती ने पार्टी पदाधिकारियों को तीन राज्यों में होने वाले चुनाव और उत्तर प्रदेश के उपचुनाव को मजबूती और पूरी ताकत से लड़ने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि पार्टी को सत्ताधारी  भाजपा और कांग्रेस दोनों के खिलाफ इस चुनाव में लड़ना है। बसपा सुप्रीमो ने कहा कि बैलेंस ऑफ पावर बनकर आगे बढ़ना है। 
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget