राज्यमंत्री के आश्वासन के बाद निवासियों ने तोड़ा अनशन

उल्हासनगर
पिछले माह शहर में गिरी महेक अपार्टमेंट इमारत के निवासियों और जर्जर इमारतों में रहने वालों ने उन्हें घर देने की मांग को लेकर 30 अगस्त से अनशन शुरू किया था, परंतु मनपा प्रशासन  द्वारा उन्हें कोई भी आश्वासननहीं मिल रहा था, जिसे लेकर नागरिको में नाराजगीबढ़ने लगी थी। सोमवारको राज्य मंत्री रविंद्र चव्हाण और विधायक ज्योति कालानी, मनपा स्थाई समिति सभापति राजेश बदरिया ने अनशन कर रहे नागरिकों से अनशन स्थल पर जाकर मुलाकात की। राज्यमंत्री ने उन्हें घर दिलाने का आश्वासन  दिया और अनसन पर बैठे नागरिकों को पानी पिलाया, जिसके बाद महेक अपार्टमेंट के निवासियों ने अनशन खत्म कर दिया। बता दें कि उल्हासनगर 2 के अंतर्गत पिछले 14 अगस्त को महेक अपार्टमेंट धराशायी होकर गिर गई थी। इस इमारत में रहने वाले  करीब डेढ़ सौ नागरिकों को मनपा प्रशासन ने एक दिन पहले इमारत खाली कराकर बाहर निकाल लिया था और दूसरे दिन सुबह दस बजे इमारत अपने आप धराशायी हो गई। इमारत गिरने से  उसमे रहने वाले नागरिकबेघर होकर दर-दर भटकने को मजबूर हो गये और इमारत के मलबे में उनका उपयोगी सामान भी दब गया था। 30 अगस्त से महेक अपार्टमेंट और अन्य जर्जर इमारतों  के निवासियों द्वारा न्याय और अधिकार के लिए धरना अनशन शुरू किया गया था। सोमवार को राज्य मंत्री रविंद्र चव्हाण की मध्यस्थता से उनका अनशन समाप्त हुआ।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget