सरकार दिव्यांगों को मानव संसाधन की मुख्यधारा में लाई: गहलोत

हरदोई
केंद्रीय सामजिक न्याय और आधिकारिता मंत्री डॉ. थावर चंद्र गहलोत ने किसी भी दल का नाम लिए बिना ही कांग्रेस पर निशाना साधा कि जो कार्य केंद्र की मोदी सरकार ने वर्ष 2014 के बाद किए हैं, वह पहले भी किए जा सकते थे। समाज के किसी भी वर्ग को नजरंदाज नहीं किया जा सकता है, फिर दिव्यांगों की कैसे अनदेखी हो सकती है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सराहना की। दिव्यांगजनों को मानव संसाधन की मुख्यधारा में लाने के लिए सरकार ने 2014 से दिव्यांगों के लिए छह प्रकार का वजीफा शुरू किया है, जबकि वर्ष 2016 से कानून में बदलाव करते हुए 21 श्रेणियों की दिव्यांगता को शामिल कर लाभांवित किया जा रहा है। ताकि वह आर्थिक रूप से सक्षम होकर देश और विदेश तक पढ़ाई पूरी कर सकें।
देश के सर्वोच्च प्रशासनिक पद आईएएस के लिए दिव्यांगों कोनि:शुल्क कोचिंग की सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है। केंद्रीय मंत्री डॉ. गहलोत शुक्रवार जिले में आए थे। उन्होंने सीएसएन कॉलेज में  सामाजिक आधिकारिता शिविर एवं नि:शुल्कसहायक उपकरण वितरित शिविर में 1074 दिव्यांगजनों को 2073 सहायक उपकरण वितरित किए। जिला दिव्यांग पुनर्वास केंद्र के भवन निर्माण के  लिए प्रशासन से भूमि मिलते ही धनराशि स्वीकृति का आश्वासन भी दिया। उन्होंने कहा कि एलिंको का कभी लाभांश दहाई में जो अब 78 करोड़ तक पहुंच गया है।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget