पकड़ी गई ड्रैगन की चोरी

इंडियन नेवी ने चीन के जासूसी जहाजोंको किया ट्रैक

नई दिल्ली
भारतीय नौसेना ने चीन की चोरी को फिर पकड़ा है। नौसेना के पी-8आई ने दो चीनी युद्धपोतों को ट्रैक किया है। भारतीय नौसेना के पी-8आई जासूसी विमान ने दक्षिणी हिंद महासागर  क्षेत्र में जासूसी कर रहे चीनी युद्धपोत जियान-32 को ट्रैक किया है। चीनी युद्धपोत जियान-32 की यह तस्वीर उस वक्त ली गई जब चीनी जहाज जियान 32 श्रीलंका की समुद्री सीमा  में प्रवेश करने वाला था, नौसेना के निगरानी विमान पी-8आई ने यह तस्वीरें ली हैं। इस दौरान चीन के एक और युद्धपोत को भी भारतीय नौसेना ने ट्रैक किया है। यह युद्धपोत अदन   की खाड़ी में तैनात चीन की एंटी पायरेसी एस्कॉर्ट टास्क फोर्स का हिस्सा है। चीन का ये विमानवाहक युद्धपोत सोमाली समुद्री डाकुओं से चीनी व्यापारी जहाजों को सुरक्षा प्रदान करने  के लिए तैनात है। इंडियन नेवी ने इसकी तस्वीर जारी की है। यह तस्वीर तब ली गई है जब चीनी जहाज हिंद महासागर से होकर गुजर रहा था।

चीनी जहाजों की निगरानी
वर्तमान में हिंद महासागर क्षेत्र में चीन के सात युद्धुपोत तैनात है, जिनमें 27,000 टन से अधिक वजनी एक जहाज भी शामिल है। भारतीय नौसेना, पी-8आई पनडुम्बी रोधी जंगी  जासूसी विमानों और अन्य निगरानी वाले यंत्रों से चीन के इन जहाजों को ट्रैक करने का काम कर रही है। जिससे चीन की हर नापाक चाल का पता लगाया जा सके। भारतीय नौसेना के पी-8आई पनडुम्बी रोधी युद्ध और निगरानी विमान ने तस्वीरों को फ्लिक किया है, जो चीनी जहाजों की गतिविधियों पर लगातार नजर रख रहे हैं। एलपीडी के अलावा, चीनी  युद्धपोतों में काउंटरपा इरेसी एस्कॉर्ट टास्क फोर्स के तीन-तीन पोत और काउंटर-पाइरेसी एस्कॉर्ट टास्क फोर्स 33 शामिल हैं, जो अदन की खाड़ी में तैनात हैं।

चीन की चालबाजी पर  नजर
सूत्रों ने कहा है कि हिंद महासागर में चीनी जहाजों की मौजूदगी के दौरान उनपर लगातार नजर रखी जा रही है, खासकर तब जब वे भारतीय विशेष आर्थिक क्षेत्र और क्षेत्रीय जल के   करीब से गुजरते हैं। सूत्रों ने बताया कि चीनी नौसेना ने अदन की खाड़ी में एंटी-पायरेसी ड्रिल को अंजाम देने के नाम पर इस समुद्री इलाके में लगभग छह से सात युद्धपोतों की   तैनाती की है लेकिन वहां की आवश्यकताओं को देखते हुए चीन की ए तैनाती जरूरत से ज्यादा लगती है। सूत्रों ने कहा कि चीनी पीपल्स लिबरेशन आर्मी की नौसेना हिंद महासागर   क्षेत्र में अपनी शक्ति दिखा रही है, क्योंकि वे इस खास इलाके में अपना प्रभाव फैलाना चाहते हैं जहां से उनका अधिकांश व्यापार हो रहा है।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget