आठ हजार केंद्रों पर होगी परीक्षा

प्रयागराज
यूपी बोर्ड की हाईस्कूल और इंटर परीक्षा 2020 की शुचिता का सारा दारोमदार परीक्षा केंद्र निर्धारण पर ही है। जिस तरह से माध्यमिक कॉलेज आधारभूत सूचनाएं देने में आनाकानी कर रहे हैं,  उससे चुनौती बढ़ गई है। हालांकि परीक्षार्थियों की संख्या कम होने से केंद्रों की तादाद आठ हजार के इर्द-गिर्द होने की ही उम्मीद है, साथ ही परीक्षा नीति में भी बड़े उलटफेर की उम्मीद नहीं है।  शासन की ओर से परीक्षा नीति अक्टूबर माह में जारी होने के संकेत हैं।
यूपी बोर्ड की परीक्षा अगले साल फरवरी में प्रस्तावित है। इसका विस्तृत कार्यक्रम जारी हो चुका है और अबपरीक्षा तैयारियां चल रही हैं। उत्तर प्रदेश में 2017 की अपेक्षा 2018 में परीक्षा केंद्रों की  संख्या तेजी से कम हुई थी। वजह बोर्ड मुख्यालय पर कंप्यूटर के जरिए केंद्र बनाए गए, उसमें कॉलेजों की क्षमता का भरपूर उपयोग होने से 8549 केंद्र बने थे। 2019 में भी परीक्षार्थी और परीक्षा  केंद्र दोनों कम हुए, केंद्र केवल 8354 ही बने थे। इस वर्ष फिर करीब दो लाख परीक्षार्थी पिछली बार की अपेक्षा कम हुए हैं, ऐसे में केंद्रों की तादाद आठ हजार के करीब रहने की उम्मीद है।
बोर्ड इन दिनों 2020 के लिए परीक्षा नीति तैयार कर रहा है। इसमें तमाम वह बिंदु शामिल किए गए हैं, जो आमतौर पर पिछली दो परीक्षाओं में रखे गए थे। अफसरों की मानें तो परीक्षा नीति  में छिटपुट बदलाव ही हो सकता है। पिछले वर्ष गाजीपुर जिले में मनमाने तरीके से केंद्र निर्धारण करा दिया गया, इससे खफा शासन ने जिला विद्यालयनिरीक्षक पर कार्रवाई की।  
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget