हरदोई में कौमी एकता की मिसाल महावीर झंडा मेला शुरू

हरदोई
यूपी के हरदोई जिले के संडीला कस्बे में लगने वाले ऐतिहासिक झंडा मेले ने समाज में सौहार्द की मिसाल कायम की है। गंगा जमुनी तहजीब को अपने आप में समेटे इस मेले में सभी समुदाय के  लोग बढ़-चढ़कर हिस्सा लेते हैं। मंगलवार से शुरू हो रहे इस मेले में देशभर से लाखों की संख्या में लोग शामिल होते हैं।
बताया जाता है कि अंग्रेजी हुकूमत के दौरान जब हिंदुओं को अपने धार्मिक कार्यक्रमों को संचालित करना कठिन हो रहा था, उस समय स्थानीय लोगों ने यहां धार्मिक कार्यक्रमों का संचालन किया।  नगर के पश्चिम में मां शीतला का मंदिर बरौनी मोहल्ले में निर्जन स्थान पर था। इस मंदिर के पीछे ही महावीर का मंदिर था। दोनों मंदिर जीर्ण शीर्ण अवस्था में थे। क्षेत्रीय लोगों ने जमींदार  बलवंत सिंह की अगुवाई में दोनों सिद्धपीठों पर पूजा करते हुए बांस की लाठियों के ऊपर बजरंग बली की तस्वीर लगे लाल रंग का झंडा लगाया। झंडे में नीचे बल्लम लगाया गया था। अगर कोई  पूछता तो बताया जाता कि झंडे को किसी भी हालत में जमीन पर लिटाया नहीं जा सकता है और न ही तिरछा रखा जा सकता है। बताते हैं कि ग्रामीण भाद्रपद मास के अंतिम मंगलवार को झंडा  लेकर इमिलिहाबाग चौराहे पर इकठ्ठे हुए तो उसी समय एक अंग्रेज सिपाही की सूचना पर अधिकारी ने लोगों को रोकने को कहा। पर उसी समय उसके परिवार का एक सदस्य बीमार हो गया और  अफसर उसे लेकर लखनऊ चला गया। इसके बाद लोगों ने महावीर मंदिर पर जाकर पूजा की और प्रसाद वितरण किया। वहीं हिंदुओं ने इसे अपनी आस्था से इसे जोड़ा तो स्थानीय मुस्लिमों ने उनकी भरपूर मदद की।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget