कांग्रेस सबसे बड़ी धोखेबाज : माया

बसपा के 6 विधायक कांग्रेस मे शामील

Mayavati
लखनऊ/ जयपुर
राजस्थान में एक बड़े राजनीतिक घटनाक्रम के तहत बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के सभी छह विधायक कांग्रेस में शामिल हो गए। अपने विधायकों के दल-बदल को लेकर बसपा  सुप्रीमो मायावती कांग्रेस पर जमकर बरसी हैं। मायावती ने कहा कि कांग्रेस उन पार्टियों को हमेशा चोट पहुंचाती है जो उसे समर्थन देती हैं। मायावती ने सिलसिलेवार ट्वीट के जरिए  कांग्रेस को दलित विरोधी और धोखेबाज बताते हुए जमकर भड़ास निकाली। जवाब में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने विधायकों की खरीद-फरोख्त के आरोपों को खारिज करते हुए कहा  है कि वे सभी राज्य के हित में स्वेच्छा से कांग्रेस में शामिल हुए हैं। मायावती ने ट्वीट में कांग्रेस को निशाने पर लेते हुए कहा कि राजस्थान में कांग्रेस पार्टी की सरकार ने एक बार  फिर बसपा के विधायकों को तोड़कर गैर-भरोसेमंद व धोखेबाज पार्टी होने का प्रमाण दिया है। यह बसपा मूवमेन्ट के साथ विश्वासघात है, जो दोबारा तब किया गया है, जब बसपा  वहां कांग्रेस सरकार को बाहर से बिना शर्त समर्थन दे रही थी। माया ने कांग्रेस पर उसकी मदद करने वाली पार्टियों को चोट पहुंचाने का आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस अपनी  कटु विरोधी पार्टी/संगठनों से लड़ने के बजाए हर जगह उन पार्टियों को ही सदा आघात पहुंचाने का काम करती है जो उन्हें सहयोग/समर्थन देते हैं। कांग्रेस इस प्रकार एससी, एसटी,ओबीसी विरोधी पार्टी है तथा इन वर्गों के आरक्षण के हक के प्रति कभी गंभीर व ईमानदार नहीं रही है। बसपा सुप्रीमो ने कांग्रेस को आंबेडकर का विरोधी बताते हुए कहा कि  कांग्रेस हमेशा ही बाबा साहेब डॉ. भीमराव आंबेडकर व उनकी मानवतावादी विचारधारा की विरोधी रही। इसी कारण डॉ. आंबेडकर को देश के पहले कानून मंत्री पद से इस्तीफा देना  पड़ा था। कांग्रेस ने उन्हें न तो कभी लोकसभा में चुनकर जाने दिया और न ही भारत रत्न से सम्मानित किया।

अति-दु:खद व शर्मनाक।
मायावती के आरोपों का जवाब देते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि कांग्रेस खरीद-फरोख्त नहीं करती। बसपा के विधायक राज्य के हित के मद्देनजर स्वेच्छा से कांग्रेस में   शामिल हुए हैं। राज्य में एक स्थिर सरकार रहे, इसके लिए उन विधायकों ने फैसला किया है। उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने भी माया के आरोपों को खारिज किया है। उन्होंने कहा   कि बिना किसी लोभ-लालच के, बिना शर्त के विधायक कांग्रेस में आए हैं, तो इसमें किसी को आपत्ति नहीं होनी चाहिए। पहले भी तो वे विधायक कांग्रेस सरकार को बाहर से  समर्थन दे रहे थे।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget