एकनाथ गायकवाड़ मुंबई कांग्रेस के कार्यवाहक अध्यक्ष

Eknath Gaikwad
मुंबई
विधानसभा चुनाव से ठीक पहले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और मुंबई के कार्याध्यक्ष एकनाथ गायकवाड़ को एक बड़ी जिम्मेदारी देकर उन्हें मुंबई कांग्रेस कार्यवाहक अध्यक्ष बनाया गया   है। मिलिंद देवड़ा के इस्तीफे के बाद यह पद लंबे समय से रिक्तपड़ा था। कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल की तरह से जारी बयान के अनुसार कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने  गायकवाड़ को मुंबई क्षेत्रीय कांग्रेस कमेटी का कार्यवाहक अध्यक्ष नियुक्त किया है। लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की करारी हार के बाद प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अशोक चव्हाण और मुंबई   अध्यक्ष मिलिंद देवड़ा ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। इसके बाद प्रदेश अध्यक्ष पद पर बाला साहेब थोरात की नियुक्ति की गई थी और एकनाथ गायकवाड़ को मुंबई का   कार्याध्यक्ष बनाया था। मिलिंद देवड़ा ने 7 जुलाई को पद से हटने की इच्छा जताते हुए अपना इस्तीफा दे दिया था। साथ ही उन्होंने आगामी महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के लिए एक   तीन सदस्यीय समिति बनाने का सुझाव दिया था। शुक्रवार को एकनाथ गायकवाड़ की नियुक्ति पर कांग्रेस अध्यक्ष की ओर सहमति का पत्र जारी किया गया। साथ ही इस पत्र में  मिलिंद देवड़ा के काम की सराहना भी की गई। पूर्व सांसद गायकवाड़ महाराष्ट्र सरकार में मंत्री रह चुके हैं। राज्य में गणेश उत्सव के बाद विधानसभा चुनाव के लिए आचार संहिता  लगने की संभावना है। ऐसे में दलित वोट बैंक को ध्यान में रखकर मुंबई कांग्रेस कार्यवाहक अध्यक्ष पद पर गायकवाड़ की नियुक्ति की गई है।

सभी मौजूदा विधायकोंको टिकट देंगी कांग्रेस
पार्टी से चल रही मायूसी के बीच कांग्रेस स्क्रीनिंग कमेटी ने पूर्व मुख्यमंत्री, पृथ्वीराज चव्हाण सहित सभी मौजूदा विधायकों को दोहराने का फैसला किया है। पार्टी ने पूर्व सीएम अशोक  चव्हाण को भी विधानसभा चुनाव लड़ने के लिए कहा है। कांग्रेस स्क्रीनिंग कमेटी की गुरुवार को नई दिल्ली में बैठक हुई। इसमें सीट बंटवारे के मुद्दे पर विस्तार से चर्चा हुई।बैठक में  कांग्रेस के उम्मीदवारों के नामों को अंतिम रूप दिया गया। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष बालासाहेब थोरात ने मीडिया को बताया कि इसने विधायकों को दोहराने का फैसला किया। कांग्रेस   महासचिव और प्रभारी मल्लिकार्जुन खड़गे ने दो बैठकें कीं। एक स्क्रीनिंग कमेटी का था और दूसरा सभी पूर्व सीएम और पूर्व प्रदेश अध्यक्ष थे। खड़गे ने सभी पूर्व सीएम और राज्य   अध्यक्षों के साथ राजनीतिक रणनीति पर चर्चा की। पार्टी ने अशोक चव्हाण को चुनाव लड़ने और उनकी पत्नी अमिता को मैदान में नहीं उतारने का सुझाव दिया।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget