नए महाराष्ट्र के निर्माण के लिए मुख्यमंत्री नौ संकल्प अभियान का करेंगे शुभारंभ

मुंबई
मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस के नेतृत्व में राज्य बड़ी तेजी से विकास के पथ पर आगे बढ़ रहा है। हमें यह विश्वास है कि आने वाले चुनावों में भाजपा को जनता का प्रचंड बहुमत  मिलेगा। इसी विश्वास के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सपने को पूरा करने के लिए राज्य के मुख्यमंत्री नए महाराष्ट्र के लिए नौ संकल्प अभियान का शुभारंभ करेंगे। शनिवार को   भाजपा प्रदेश कार्यालय में आयोजित पत्रकार परिषद को संबोधित करते हुए भाजपा प्रदेशाध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने यह बात कही। पाटिल ने कहा कि अगले पांच वर्षों में महाराष्ट्र को   एक निश्चित स्थान पर पहुंचाने के लिए मुख्यमंत्री ने नौ संकल्प लिए हैं। इस मिशन का उद्देश्य संगठन के कार्यकर्ताओं के माध्यम से घर-घर जाकर जनता का आशीर्वाद प्राप्त करना  है। भाजपा प्रदेशाध्यक्ष पाटिल ने कहा कि पिछले पांच वर्षों में केंद्र की नरेंद्र मोदी और राज्य की देवेंद्र फड़नवीस सरकार द्वारा शुरू की गई कल्याणकारी योजनाओं का समाज में  प्रचंड समर्थन प्राप्त हुआ है। प्रशासन में पारदर्शिता और भ्रष्टाचार मुक्त सरकार के कारण ही बीते 2019 के लोकसभा चुनाव में जनता ने फिर एक बार पार्टी  को भारी मतों से  विजयी बनाकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर अपना विश्वास जताया हैं। उन्होंने कहा कि केंद्र की तरह, राज्य के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस ने राज्य में भी एक स्वच्छ, निर्णायक सरकार  देने का काम किया है। एक कार्यशील सरकार के रूप में नए महाराष्ट्र के निर्माण के नौ संकल्पों को चुनाव से पहले समाज के समक्ष सरल रूप में प्रस्तुत करने हेतु यह सबसे बड़ा  अभियान है। मुख्यमंत्री के नेतृत्व में पिछले पांच वर्षों के दौरान हमने कड़ी मेहनत की और कई कल्याणकारी योजनाएं शुरू की हैं। सर्वसम्मति से हमने सभी समाज को सम्मान के  साथ न्याय देने की कोशिश की है। इस वजह से समाज को हम पर पूरा भरोसा है। हम समाज के लिए और अधिक परिश्रम करने के लिए तैयार हैं। जिसके तहत सीएम फड़नवीस  ने नवरात्र के नौ संकल्प के साथ-साथ समाज तक पहुंचने का फैसला किया है। इस अभियान के तहत भाजपा के पदाधिकारी, बूथ प्रमुख और कार्यकर्ता घर-घर जाकर मुख्यमंत्री के  संकल्प को लोगों को बताएंगे। साथ ही इस अभियान के माध्यम से हमें जनता का आशीर्वाद मिलेगा। पाटिल ने कहा कि हम इस अभियान के साथ सभी मतदाताओं तक पहुंचने की  कोशिश करेंगे। नवरात्र के पावन पर्व पर इस अभियान की शुरुआत होगी। कार्यकर्ताओं के अधिक से अधिक घरों तक पहुंचने की योजना है। 2 अक्टूबर गांधी जयंती के अवसर पर  सभी जनप्रतिनिधियों के अलावा स्वयं मुख्यमंत्री लोगों के घरों में जाएंगे। इस दौरान भाजपा प्रदेश के महामंत्री और विधायक रामदास आंबटकर को इस अभियान का प्रभारी नियुक्त  किया गया है।

75 पार को भाजपा नहीं देगी टिकट
आगामी विधानसभा चुनाव में भाजपा 75 की उम्र पार कर चुके नेताओं को पार्टी टिकट नहीं देगी। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने कहा कि 75 पार के लोगों को उम्मीदवारी  नहीं दी जाएगी, चाहे वो मंत्री हो या विधायक। भाजपा ने यदि यह फैसला कड़ाई से लागू किया तो मुलुंड के विधायक सरदार तारा सिंह सहित विधानसभा अध्यक्ष हरिभाऊ बागड़े  को  टिकट मिलने में मुश्किल हो सकती है। 2014 के लोकसभा चुनाव के बाद केंद्र में आई नरेंद्र मोदी की सरकार ने 75 पार के नेताओं को न मंत्री बनाने और ना ही पार्टी में कोई पद  देने का निर्णय लिया था। इसी निर्णय के तहत भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी को कैबिनेट में जगह नहीं दी थी। मोदी सरकार में 75 की उम्र  पार कर चुके कलराज मिश्र और नजमा हेपतुल्ला को मंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा था। इसके बाद 2019 के लोकसभा चुनाव  में 75 पार के नेताओं को टिकट नहीं दिया गया था।   विधायक सरदार तारा सिंह की उम्र 82 के आसपास है। ऐसे में पार्टी मुलुंड विधानसभा क्षेत्र से कोई नया उम्मीदवार तलाशेगी। महाराष्ट्र विधानसभा के अध्यक्ष हरीभाऊ बागड़े की उम्र   74 वर्ष है, जबकि शिवाजी नाईक की उम्र भी 74 है। ऐसे में इन्हें भी टिकट के लिए मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget