इमरान के खिलाफ नारेबाजी छात्रों पर केस दर्ज

student protest
इस्लामाबाद
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान कश्मीर मामले पर कई देशों के समर्थन का दंभ भर रहे हैं और दूसरी तरफ उनके अपने देश के लोग उनके खिलाफ नारे लगाते हैं। इमरान  खान ने कश्मीर में 370 हटने के बाद तरह-तरह के हथकंडे अपनाए। उन्होंने अपनी आवाम से अपील की कि शुक्रवार को सभी लोग घरों, स्कूलों से बाहर निकलकर कश्मीरियों का  'समर्थन' करें। इसके बाद मुज फराबाद में उन्होंने एक रैली की जो बुरी तरह फ्लॉप रही। इस रैली में युवाओं और स्टूडेंट्स ने उनके खिलाफ जमकर नारेबाजी की और अब खबर है   कि विरोध करने वाले छात्रों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। मुज फराबाद की रैली में खास भीड़ भी नहीं इकठ्ठी हुई थी। बताया गया कि इमरान ट्रकों में भरकर लोगों को   अपने साथ लाए थे। इस रैली से पहले युवाओं ने 'नियाजी गो बैक' के नारे लगाए। दरअसल इमरान का उपनाम नियाजी है और यह 1971 की पाकिस्तान की शर्मानक हार की भी  याद दिलाता है। उस समय पाकिस्तानी सेना की कमान आमिर अब्दुल्ला खान नियाजी के हाथ में थी और उन्हें भारतीय सेना के सामने हथियार डालने पड़े थे। इमरान ने रैली में भी  घुसपैठ को बढ़ावा दिया और कहा कि मैं बताऊंगा आपको कि कब एलओसी पर जाना है। संसद के बाहर ही नहीं संसद के अंदर भी इमरान के खिलाफ आवाज उठती रहती है। पिछले  दिनों विपक्ष के नेता ने यहां तक कहा कि इमरान खान को उनकी आवाम ने नहीं चुना है बल्कि सेना ने इस पद पर बैठाया है। बिलावल भुट्टो ने भी कहा था इमरान इलेक्टेड नहीं,  सिलेक्टेड पीएम हैं।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget