अब बिहार सीएम की सीट खाली करें नीतीश

पटना
 बिहार में विधानसभा के चुनाव में अभी वक्त है। लेकिन, तमाम पार्टियां चुनाव को लेकर अपनी-अपनी तरफ से तैयारियों में जुट गई हैं। बिहार में अभी एनडीए की सरकार है और भाजपा और जदयू इसके मुख्य घटक हैं, जिनके बीच वैसे तो सब ठीक लगता है। लेकिन, कभी-कभी बड़ा-भाई और छोटा भाई के मुद्दे को लेकर बहस हो जाती है। दोनों में सीएम पद के उम्मीदवार के लिए अबतक एकमत नहीं है। भाजपा नेता संजय पासवान ने बड़ा बयान देते हुए कहा है कि नीतीश कुमार ने बिहार के सीएम की कुर्सी काफी लंबे समय से संभाल रखी है। अब नीतीश कुमार के चेहरे  पर नहीं पीएम नरेंद्र मोदी के चेहरे पर वोट मिलता है, इसीलिए नीतीश कुमार को अब सीएम की कुर्सी भाजपा के लिए खाली कर देनी चाहिए। उनके इस बयान पर जदयू ने तीखी प्रतिक्रिया दी है। जदयू नेता निखिल मंडल ने कहा है कि सीएम के पद के कैंडिडेट, तो नीतीश कुमार ही रहेंगे। वही विधानसभा चुनाव में एनडीए का चेहरा होंगे। किसी के कहने से कुछ नहीं होता है। नीतीश कुमार को बिहार की जनता का आशीर्वाद प्राप्त है।
संजय पासवान के बयान का करारा जवाब देते हुए जदयू नेता संजय सिंह ने कहा कि संजय पासवान जी, आपका ज्ञान सुना, लेकिन आश्चर्य इस बात का हुआ कि 2015 में आपका यह ज्ञान हां  था? आपने बिल्कुल सही कहा है कि बिहार में नरेंद्र मोदी मॉडल चलेगा। बेशक चलेगा, लेकिन एक बार यह तो विचार कर लीजिए कि 2015 में क्या हुआ था? संजय पासवान जी, कोई कोर  कसर छोड़ी गई थी क्या 2015 में लेकिन नतीजा क्या हुआ? बिहार की जनता ने अपने लोकप्रिय नेता नीतीश कुमार केनेतृत्व में आस्था जताई और हर उपक्रम के बावूजद सामने कोई टिक न  सका। तब आप कहां थे? संजय जी, सरकार का मॉडल जनता तय करती है नेता नहीं। नेता तो केवल नेतृत्व करता है, जनता का समर्थन उसे मिलता है। जिसे जनसमर्थन मिला देश की बागडोर उसके हाथों में और जिसके साथ बिहार की जनता वही राज्य सत्ता का नेतृत्व करेगा। जनता क्यूं करे विचार, जब हैं ही नीतीश कुमार। संजय पासवान, आप खुद कितने घाट  का पानी पीकर भारतीय जनता पार्टी में पहुंचे हैं यह सबको मालूम है। आप बेवजह बिना फीस किए वकील बन रहे हैं। आपसे किसी ने यह सलाह मांगी क्या की मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को कहां की सियासत करनी चाहिए? संजय पासवान, बिना मांगे सलाह देने वाले ज्ञानी को  क्या कहा जाता है यह मालूम है ना आपको? बरसाती मेढ़क का हाल मानसून के बाद कोई नहीं लेता। आप बिन मांगी सलाह अपने पास रखिए। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अहमियत आपकी पार्टी अच्छे से समझती है। संजय पासवान, जब तक बिहार की जनता चाहेगी, तब तक बिहार के मुख्यमंत्री की कुर्सी पर नीतीश  कुमार ही रहेंगे। आपके कहने या ना कहने से कुछ भी नहीं होता। नीतीश कुमार का कद जानना या समझना है, तो आपको आपकी पार्टी के ही नेता बता देंगे।

Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget