आपके पीएफ खाते में भी आने वाला है पैसा

EPFO
नई दिल्ली
कर्मचारी भविष्य निधि के सदस्यों को जल्द ही पैसा मिलने वाला है। ईपीएफओ किसी भी दिन उनके खाते में पिछले वित्त वर्ष का ब्याज क्रेडिट कर देगा। हाल ही में श्रम मंत्रालय ने  इसकी जानकारी दी थी। सबसे खास बात है कि वित्त वर्ष 2018-19 के लिए मिलने वाला ब्याज वित्त वर्ष 2017-18 से भी ज्यादा होगा। मतबल यह कि इस बार सदस्यों को ज्यादा  पैसे मिलेंगे। क्योंकि, ईपीएफओ की सिफारिशों के मुताबिक ही वित्त मंत्रालय ने 8.65 फीसदी ब्याज को मंजूरी दी है। अब ईपीएफ सदस्यों को पता रखना चाहिए उनके खाते में  कितना पैसा है और कितना ब्याज मिल रहा है। इसके लिए जरूरी है कि वो अपने खाते की राशि को नियमित तौर पर चेक करते रहें। इसके आपको अपनी पासबुक चेक करते रहना   चाहिए। पासबुक चेक करने या अपने खाते का बैलेंस जानने का एक बढ़िया तरीका है, ईपीएफओ की मिस कॉल सर्विस। इसके लिए ईपीएफओ ने नंबर जारी किया हुआ है। इसके  अलावा ऑनलाइन या एसएमएस से भी पीएफ बैलेंस पता कर सकते हैं।

मिस कॉल से पता करें पीएफ बैलेंस
जिसे अपना पीएफ बैलेंस के बारे में जानना है तो वह एक मिस कॉल कर के भी पता कर सकता है। ईपीएफओ ने बताया है कि रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से 011-22901406 पर  मिस कॉल करनी होगी। इसके बाद मैसेज के जरिए पता चल जाएगा कि आपके अकाउंट में कितना पीएफ का बैलेंस है। मिस्ड कॉल के तुरंत बाद ही एक मैसेज भी आपको मिलता  है। यह मैसेज एएम-ईपीएफओएचओ की ओर से आता है। ईपीएफओ के द्वारा यह मैसेज भेजा जाता है। इस मैसेज में आपके अकाउंट की सारी जानकारी रहती है साथ ही कुछ और  डिटेल जैसे कि मेंबर आईडी, पीएफ नंबर, नाम, जन्मतिथि, ईपीएफ बैलेंस, अंतिम योगदान। अगर आपकी कंपनी कोई प्राइवेट ट्रस्ट है तो आपको बैलेंस डिटेल नहीं मिलेगा। आपको  अपनी कंपनी से इसके लिए संपर्क करना होगा।

मिस्ड कॉल क्यों पसंद है?
मिस्ड कॉल की विधि सबको इसलिए पसंद है क्योंकि ईपीएफ बैलेंस जानने कि यह सबसे अच्छी विधि है। यह किसी मोबाइल एप और एसएमएस सर्विस से कहीं बेहतर है। इसके  लिए किसी स्मार्ट फोन की भी जरुरत नहीं है। किसी भी फोन से आप मिस कॉल दे सकते हैं और न ही किसी एप की आवश्यकता है। मिस कॉल करना मैसेज करने से ज्यादा सरल  है। इसके लिए आपको पैसे भी देने की जरुरत नहीं होती।

ऐसे चेक करें ईपीएफ बैलेंस और पासबुक ऑनलाइन
ईपीएफओ ने अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर ईपीएफ बैलेंस चेक करने की सुविधा दी है। ई पासबुक का लिंक आपको वेबसाइट के ऊपरी दाएं हिस्से में मिल जाएगा। इसके बाद   व्यक्ति को यूएएन नंबर और उसका पासवर्ड डालना होगा। वेबसाइट पर यूएएन नंबर और पासवर्ड डालने के बाद आपको व्यू पासबुक बटन पर क्लिक करना होगा और वहां आपको  बैलेंस पता चल जाएगा। एप से कर सकते हैं बैलेंस चेक: इसके अलावा पीएफ बैलेंस का पता ईपीएफओ की एप से भी लगा सकते हैं। इसके लिए सबसे पहले मेंबर पर क्लिक करें  और उसके बाद यूएएन नंबर और पासवर्ड डालें। जमा होती है तय राशि: पीएफ में पैसा जमा कराने के लिए एक राशि तय है। कर्मचारी और कंपनी को हर महीने बैसिक सैलरी और  डीए (यदि है तो) का 12 फीसदी देना होता है। 12 फीसदी का 8.33 प्रतिशत राशि ईपीएफ किटी में जाती है। वहीं, 3.67 फीसदी हिस्सा ईपीएफ में जमा होता है।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget