अब बात नही, काम करें दुनीया

यूएन में जलवायु परिवर्तन पर बोले मोदी

Narendra Modi
न्यूयॉर्क
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज जरूरत है कांम्प्रिहेंसिव अप्रोच की, बात नहीं, बल्कि काम करे दुनिया, जिसमें मूल्य भी शामिल हों। आज सोच में बदलाव के लिए विश्वव्यापी  आंदोलन खड़ा करने की जरूरत है। हम भारत की ऊर्जा खपत में नॉन फॉसिल ब्यूल बढ़ा रहे हैं। हम पेट्रोल-डीजल में बायोब्यूल की मिक्सिंग बढ़ा रहे हैं। हमने करोड़ों परिवारों को  क्लीन कुकिंग गैस मुहैया कराई है। हमने मिशन जल जीवन भी शुरू किया है। अंतर्राष्ट्रीय मंच की बात करें, तो 80 देश भारत की इंटरनेशनल सोलर अलायंस की पहल के साथ जुड़  चुके हैं। इससे पहले, मोदी ने कहा कि पिछले साल चैंपियन ऑफ अर्थ पुस्कार मिलने के बाद मेरा यूएन में ये मेरा पहला संबोधन है। प्रकृति का सम्मान और प्राकृतिक संसाधनों का  सम्मान हमारी परंपरा का हिस्सा रहा है।
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का संयुक्त राष्ट्र की क्लाइमेट चेंज को लेकर आयोजित समिट में पहुंचने का कोई कार्यक्रम नहीं था, लेकिन सोमवार को वह अचानक पहुंच गए।  दिलचस्प बात यह रही कि महज 15 मिनट के लिए अप्रत्याशित तौर पर पहुंचे ट्रंप ने पीएम नरेंद्र मोदी का क्लाइमेट चेंज को लेकर भाषण सुना और तालियां बजाते दिखे।

गैर-जीवाश्म ईंधन का प्रयोग करेगा भारत
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भारत अपनी ऊर्जा जरूरतों के लिए गैर-जीवाश्म ईंधन का प्रयोग करेगा। नवीनीकृत ऊर्जा क्षमता को दोगुना कर 2022 तक 175 गीगावॉट तक ले जाया  जाएगा। प्रधानमंत्री ने भारत में स्वच्छ ऊर्जा का इस्तेमाल 400 गीगावॉट तक बढ़ाने का लक्ष्य रखा।

पेरिस समझौते की अनुशंसाओं का पालन करने पर जोर
मोदी ने कहा कि अगर हमें जलवायु परिवर्तन की चुनौती का सामना करना है, तो सभी को यह स्वीकारना चाहिए कि हमारे अब तक के प्रयास काफी नहीं हैं और बहुत कुछ किया  जाना बाकी है। जलवायु सम्मेलन में इस मुद्दे को लेकर 2015 में हुए पेरिस समझौते की अनुशंसाओं का पालन करने पर भी बल दिया गया।

सिंगल यूज प्लास्टिक के खिलाफ कदम उठा रहे हैं
मोदी ने कहा कि भारत आपदाओं से निपटने लायक बुनियादी ढांचे के निर्माण के लिए गठबंधन बनाने की दिशा में काम कर रहा है। हम सिंगल यूज प्लास्टिक के खिलाफ भी कदम  उठा रहे हैं। संयुक्त राष्ट्र की इस इमारत में हम भारत द्वारा लगाए गए सोलर पैनल का उद्घाटन करेंगे।

भारतीय समुदाय से भी मुलाकात करेंगे पीएम
इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी  लीडर्स  डायलॉग में आतंकवाद और चरमपंथ पर नेताओं को संबोधित करेंगे। प्रधानमंत्री ने दूसरी बार महासभा को संबोधित किया। इससे पहले 2014 में  सितंबर में महासभा की बैठक में शामिल हुए थे। वहीं, संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस समेत अन्य प्रतिनिधिमंडलों के साथ द्विपक्षीय बैठकों के अलावा, प्रधानमंत्री महासभा  के बाहर न्यूयॉर्क में भारतीय समुदाय से भी मुलाकात करेंगे।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget