सपा के कार्यक्रम में बारिश का कहर

लखनऊ
समाजवादी पार्टी के कार्यक्रम में शनिवार को लखनऊ में बारिश कहर बन गई। विश्वकर्मा पूजा समारोह का आयोजन शनिवार को हो रहा था, लेकिन समाजवादी पार्टी कार्यालय में हो रहा यह  आयोजन बारिश में धुल गया। समाजवादी पार्टी के कार्यालय में विश्वकर्मा पूजा समारोह के जरिए समाज को पार्टी से जोड़ने का आयोजन किया था। कार्यक्रम में प्रदेश भर से विश्वकर्मा समाज के  लोगों को बुलाया गया था। देश के अन्य राज्यों से भी प्रतिनिधि बुलाए गए। मगर पार्टी कार्यालय में आयोजित यह कार्यक्रम बारिश में पूरी तरह धूल गया। यहां अफरा-तफरी में मुख्य अतिथि के  अलावा किसी वक्ता का भाषण तक नहीं हो पाया। मंच पर अतिथियों का भाषण शुरू  भी नहीं हुआ था कि बरसात शुरू  हो गई। बरसात तेज हुई तो पंडाल छोड़कर कार्यकर्ता इधर-उधर भागने  लगे। इसी बीच समाज का दिल जीतने की कोशिश में सपा के अध्यक्ष अखिलेश यादव छाता लगा कार्यक्रम में पहुंच गए। पांडाल में सुनने वाले भी गिनती के ही लोग बचे थे। इसके बाद भी वहां  अन्य वक्ताओं की बजाय सीधे अखिलेश यादव ने ही संबोधित किया। उन्होंने कहा कि जिस तरह से गोवर्धन और मथुरा, वृंदावन वालों का इम्तिहान इंद्रदेव ने लिया था, वैसा ही मौका आज है।  अखिलेश ने चंद मिनट के भाषण में ही भाजपा सरकार को निशाने पर लिया।
उन्होंने कहा हमने विश्वकर्मा जयंती की छुट्टी घोषित की थी, लेकिन  इस सरकार ने खत्म कर दी। आपके सहयोग से दो वर्ष बाद हमारी सरकार बनेगी, तब फिर से छुट्टी शुरू करेंगे। सपा अध्यक्ष  ने सतही तौर पर 17 अतिपिछड़ी जातियों का मुद्दा भी छुआ। बोले कि सरकार बनने के बाद ऐसी योजनाएं बनाएंगे, जिनका लाभ आप सहित सभी 17 जातियों को मिलेगा। जिनकी आबादी कम  है, उन्हें पहले और ज्यादा आबादी वालों को उसके बाद लाभ दिया जाएगा। साथ ही घोषणा की कि सपा सत्ता में आने पर गोमती किनारे भगवान विश्वकर्मा का मंदिर बनवाएगी। इस अफरा-तफरी  के माहौल में इस कार्यक्रम आयोजक पूर्व मंत्री रामआसरे विश्वकर्मा भी भाषण नहीं दे सके। 
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget