महाराष्ट्र में होगा कांग्रेस-राकांपा का सूपड़ा साफ : केशव प्रसाद मौर्य

Keshav Prasad maurya
मुंबई
राज्य में अक्टूबर महीने में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए बिगुल बज चुका है। इस चुनाव में लोकसभा की भांति विपक्षी दल कांग्रेस और राकांपा का सूपड़ा साफ हो जाएगा।  भाजपा और शिवसेना की महायुति तीन चौथाई बहुमत के साथ सरकार बनाएगी। मुंबई में लाखों की संख्या में रहने वाले उत्तरभारतीयों को केंद्र में नरेंद्र, राज्य में देवेंद्र और कमल  का फूल दिखता है। राज्य विधानसभा चुनाव को लेकर पिछले कई दिनों से मुंबई दौरे पर आए उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री और विधानसभा चुनाव के सहप्रभारी केशव प्रसाद मौर्य ने  हमारा महानगर के संवाददाता से विशेष बातचीत के दौरान यह बात कही। मुंबई, ठाणे, पालघर सहित नवी मुंबई में लाखों की संख्या में रहने वाले उत्तर भारतीय मतदाताओं को  ध्यान में रखते हुए भाजपा-शिवसेना कितने उतरभारतीय नेताओं को चुनाव मैदान में उतारेगी? इस सवाल का जवाब देते हुए उपमुख्यमंत्री मौर्य ने कहा कि भाजपा और शिवसेना की  युति की घोषणा के बाद भाजपा यह तय करेगी कि कितने उत्तर भारतीय नेताओं को चुनाव मैदान में उतारना है। महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव की घोषणा हो चुकी है। मुंबई, ठाणे  और पालघर जिले में हर चुनाव में उतरभारतीय समाज की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। ऐसे में उन्हें भाजपा और शिवसेना की महायुति के उम्मीदवारों को जिताने के लिए उत्तर प्रदेश  से कितने मंत्री, नेता और पदाधिकारी मुंबई आने वाले हैं? इसके जवाब में चुनाव सहप्रभारी मौर्य ने कहा कि भाजपा की परंपरा रही है कि जिस राज्य में चुनाव होते हैं, वहां दूसरे  राज्य के नेता और कार्यकर्ता चुनाव प्रचार के लिए जाते हैं, लेकिन यहां उत्तर प्रदेश के कितने नेता, मंत्री आएंगे इसको लेकर अभी पार्टी ने तय नहीं किया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  हमेशा भ्रष्टाचार के खिलाफ और पारदर्शक सरकार चलाने की बात करते हैं। इसको देखते हुए क्या पूर्व मंत्री एकनाथ खड़से और प्रकाश मेहता को इस चुनाव में भाजपा टिकट देगी?  इसके जवाब में उन्होंने कहा कि इस पर पार्टी विचार करेगी। इसके साथ उपमुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश से मुंबई के लिए हर दिन हजारों की संख्या में पलायन करने वाले  उत्तरभारतीयों को रोकने के लिए राज्य की भाजपा सरकार बड़ी संख्या में रोजगार के अवसर पैदा हो रहे हैं। एक भारत श्रेष्ठ भारत के तहत किसी राज्य के लोगकिसी भी राज्य में  जाकर रह और नौकरी कर सकते हैं। उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार की पिछले 100 दिनों की उपलब्धियां गिनाते हुए उन्होंने कहा कि प्रदेश के तीर्थस्थलों के पुनर्विकास को लेकर  सरकार गंभीर है, जिसके तहत तेजी से तीर्थस्थलों का पुनर्विकास सरकार ने शुरू कर दिया है। तीर्थस्थलों के विकास से पर्यटन को बढ़ावा देने के साथ ही बड़ी संख्या में रोजगार के  अवसर मिलेंगे। पिछले साल प्रयागराज स्थित कुंभ मेले में आए 24 तीर्थयात्री इसके उदाहरण हैं। पूर्वांचल के विकास को ध्यान में रखते हुए देश का सबसे बड़ा एक्सप्रेस हाइवे और  67 स्टेट हाइवे का निर्माण कार्य शुरू है। उन्होंने आगे कहा कि यूपी की हमारी सरकार सभी जिलों के गांवों के विकास पर विशेष ध्यान दे रही है। जो लोग सरकार की योजनाओं से  वंचित हैं, उन्हें योजनाओं का लाभ पहुंचाने का काम कर रही है। महाराष्ट्र सहित पूरे देश की जनता ने कांग्रेस पार्टी को नकार दिया है। केंद्र की नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में गृहमंत्री  अमित शाह द्वारा जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 और 35ए रद्द किये जाने के बाद कांग्रेस के बचे हुए कुछ मतदाता भाजपा के मतदाता बन गए, जो महाराष्ट्र के चुनाव में महायुति  को जीताने का काम करेंगे। राकांपा प्रमुख शरद पवार पर ईडी द्वारा की गई कार्रवाई पर राकांपा द्वारा लगाए जा रहे बदले की भावना की कार्रवाई का जवाब देते हुए उपमुख्यमंत्री  मौर्य ने कहा कि भाजपा सरकार किसी तरह की बदले की भावना से कार्रवाई नहीं करती। कानून स्वतंत्र होकर अपना काम करता है। इसमें केंद्र या राज्य सरकार का कोई हस्तक्षेप  नहीं होता। राज्य के विधानसभा चुनाव के सहप्रभारी मौर्य का कहना है कि बीते कई दिनों में मैंने मुंबई, ठाणे और नागपुर में बड़ी संख्या में रह रहे उत्तर भारतीय समाज से  मुलाकात की, जिसमें लोगों का बहुत अच्छा प्रतिसाद मिल रहा है। लोग केंद्र की नरेंद्र मोदी और राज्य की देवेंद्र फड़नवीस सरकार द्वारा किये गए विकास कार्यों से संतुष्ट हैं। इसके  पहले केशव प्रसाद मौर्य ने मुंबादेवी मंदिर जाकर मुंबई की कुलदेवी का दर्शन किया।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget