बालाकोट में जिन आतंकी कैंपों को किया गया था ध्वस्त वे फिर हुए सक्रिय

नई दिल्ली
भारत सरकार से जुड़े सूत्रों का कहना है कि पाकिस्तान के बालाकोट में हुई स्ट्राइक के बाद तबाह हो गए आतंकी कैंप एक बार फिर से वहां सक्रिय हो गए हैं। 129 आतंकी लांच पैड  पर घुसपैठ को तैयार बैठे हुए हैं। सूत्रों का कहना है कि पांच अगस्त के बाद 100 गुना घुसपैठ बढ़ गई है और इतना ही नहीं 45 दिनों में 60 आतंकियों ने की घुसपैठ की है। उसके  पहले के सात महीने में सिर्फ 35 घुसपैठ हुई थी। बताया जा रहा है कि इमरान खान के अमेरिका दौरे के दौरान इन आतंकी कैंपों को हटा लिया गया था। इन कैंपों में जैश-ए- मोहम्मद के आतंकियों को ट्रेनिंग दी जा रही है। पहले भी इसी आतंकी संगठन के कैंप यहां चलाए जा रहे थे।
गौरतलब है कि इसी साल 14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ एक काफिले पर आत्मघाती हमला हुआ था, जिसमें 44 जवानों शहीद हो  गए थे। लोकसभा  चुनाव के ठीक पहले हुआ यह आतंकी हमला मोदी सरकार के लिए बड़ी चुनौती बन गया  था। लेकिन 26 फरवरी को भारतीय वायुसेना के फाइटर प्लेन पाकिस्तान की सीमा में  घुसकर बालाकोट में चल रहे आतंकी कैंपों को तबाह कर डाला था। हालांकि इस स्ट्राइक के बाद कई अंतर्राष्ट्रीय संस्थाओं ने दावा किया कि भारतीय वायुसेना की इस स्ट्राइक में कोई  मारा नहीं गया है। लेकिन बाद में वायुसेना की ओर से की गई प्रेस कांफ्रेंस में साफ कहा गया कि हमले के वक्त वहां पर 300 मोबाइल फोन सक्रिय थे।

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget