मूसलाधार बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त

मुंबई
सोमवार से जारी मूसलाधार बारिश ने बुधवार को अपना रौद्र रूप दिखाया। बुधवार सुबह से ही भारी बारिश से जगह-जगह पानी भर गया। सुबह 8:30 बजे से दोपहर दो बजे तक  मुंबई सहित उपनगरीय इलाकों में 100.97 मिमी बारिश दर्ज की गई, जबकि पूर्वी उपनगर में 131.49 मिमी बारिश दर्ज की गई। वहीं पश्चिमी उपनगर में 145.65 मिमी बारिश का  रिकॉर्ड दर्ज की गई। वहीं मंगलवार रात से जारी बारिश कुछ धीमी हुई, तो सुबह के समय लोग अपने- अपने कार्यालयों के लिए निकल पड़े, लेकिन दोपहर होते ही भारी बारिश ने जो  कहर बरपाया, जिससे मध्य रेलवे सहित पश्चिम रेलवे दोपहर होते ही ठप पड़ गई। मध्य रेलवे पर दोपहर 12 बजकर 10 मिनट पर सायन और कुर्ला के बीच रेल पटरियों पर पानी  जमा हो गया, वहीं घाटकोपर और विक्रोली के बीच पानी रेल लाइनों पर जमा होने के कारण ठप हुईं। माटुंगा में भी ट्रैकों पर पानी जमा हो गया और पश्चिम उपनगरीय लोकल सेवा  भी ठप हो गई। जिससे सुबह अपने कार्यालयों पर गए लोगों को घर जाने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। भारी बारिश से दोपहर दो बजे तक अंधेरी में सबसे अधिक  214.35 मिमी बारिश दर्ज की गई, विलेपार्ले में 182.87 मिमी बारिश दर्ज की गई और कांदीवली में 170.67 मिमी बारिश दोपहर दो बजे तक दर्ज की गई। जबकि दादर में 168.15   मिमी बारिश हुई। पूर्व उपनगर में सबसे अधिक बारिश का जोर रहा। वहीं विक्रोली में 184.17 मिमी बारिश दर्ज की गई, जबकि कुर्ला में 147.84 मिमी बारिश दर्ज की गई, भांडुप  में 144.02 मिमी बारिश दर्ज की गई। वहीं चेंबूर में 132.07 मिमी बारिश दर्ज की गई। जबकि मरोल में 183.38 मिमी बारिश दर्ज की गई।

रेल सेवाएं रही बाधित
शाम होते-होते जारी भारी बारिश से रेल सेवाएं जहां ठप रहीं, वहीं बड़ी संख्या में ऑफिस गए हुए लोगों को ऑफिस में ही ठहरने की सलाह दी गई। वहीं 24 घंटों में भारी बारिश की  चेतावनी भी जारी की गई है। सेंट्रल-वेस्टर्न रेलवे की सेवाएं सुबह के समय 45 मिनट की देरी से चलती रहीं। दोपहर तक सेंट्रल की ठाणे से सीएसएमटी की सेवाएं बंद कर दी गईं।  पीक आवर में भारी बारिश के चलते कुछ विमान सेवाओं को भी डॉयवर्ट करना पड़ा, वहीं पीक आवर में ज्यादातर ट्रेनें रुक-रुक पर चलतीं रहीं। भारी बारिश से पटरियों पर पानी भर जाने के कारण कांजुरमार्ग, विक्रोली, घाटकोपर, कुर्ला, सायन, माटुंगा, दादर सहित अन्य स्टेशनों पर यात्री फंसे रहें। वहीं सीएसएमटी से ठाणे तक की लोकल सेवाएं रद्द करनी पड़ी।  जबकि बाकी की सेवाएं रुक-रुक कर चल रहीं थीं। सेंट्रल रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी शिवाजी सुतार ने बताया कि मीठी नदी में पानी बढ़ने के कारण ट्रैक पर पानी आ गया  है। जिसके चलते लोकल सेवाएं बाधित हुई हैं। हमने हर तरह से यात्रियों की सुरक्षा के इंतजाम किए हैं। हमारे इंजीनियर गड़बडियों से निपटने में जुटे हुए हैं। आरपीएफ और  जीआरपी की मदद से लोगों तक राहत पहुंचाई गई। हमारा प्रयास है की सभी यात्रियों को सुरक्षित घरों तक पहुंचाया जाए। वहीं वेस्टर्न रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी रवींद्र भाकर  ने बताया कि वेस्टर्न रेलवे में वसई-विरार में भारी बारिश के चलते सेवाएं बाधित हुईं हैं, दोपहर होते-होते माटुंगा स्टेशन के पास पानी भरने से पश्चिम उपनगरीय सेवा पूरी तरह ठप  हो गई।

बेस्ट बसों का बदला गया रूट
भारी बारिश के चलते शहर के कई इलाकों में पानी भर गया, जिसके चलते बेस्ट बसों को हिंदमाता, गांधी मार्केट सायन रोड़ नंबर 24, किंग्जसर्कल, कुर्ला एसटीडीपो, मिलन सबवे,  मालाड गार्डन, समाज मंदिर हॉल, प्रतीक्षा नगर, एंटाप हिल, पिंक टॉकीज, साईनाथ सबवे मालाड, वीरा देसाई रोड़, कांदिवली, एसवी रोड़ नेशनल टॉकीज जैसे कई इलाकों से गुजरने   वाली बसों का मार्ग परिवर्तित किया गया।

बेस्ट की 78 बसें पानी मे डूबी
बेस्ट की 78 बस पानी में डूबने के कारण बंद हो गई, जिसमें 42 बसों को कुछ हद तक मरम्मत करके सड़क के किनारे किया गया और उनकी मरम्मत कर दोबारा सड़क पर उतरा  गया। जबकि 45 बसें पानी में डूबीं रहीं, जिसमें से शाम छह बजे तक 23 बसों को पानी से बाहर निकाला गया, जबकि 22 बसें पानी में ही खड़ीं रहीं।

भारी बारिश से कई इलाकों में भरा पानी
भारी बारिश से कई इलाकों में पानी भर जाने से नागरिकों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा। सायन, वडाला, पश्चिम उपनगर के बांद्रा स्थित नेशनल कॉलेज, अंधेरी सब-वे, मिलन  सब-वे, मेघवाड़ी स्थित गणेश विसर्जन तालाब, अंधेरी स्थित आकृति मॉल, बोरिवली स्थित रिलायंस एनर्जी जंक्शन, पूर्व उपनगर के नेहरू नगर, पोस्टल कॉलोनी चेंबूर, साकीनाका  जंक्शन, बैंगनवाड़ी, विद्याविहार, आरसीटी मॉल जंक्शन, घाटकोपर सहित अन्य निचले इलाकों में पानी भर गया था।

एनडीआरएफ के जवानों ने  1300  नागरीकों को सुरक्षित बचाया
मुंबई सहित उपनगर में हो रही भारी बारिश से कई इलाकों में जलजमाव हो गया। लोगों को बचाने के लिए एनडीआरएफ की टीम को सड़कों पर उतरना पड़ा। भारी बारिश से उफान  पर आई मीठी नदी से कुर्ला पश्चिम में एयरपोर्ट के पास क्रांतिनगर में पानी भर गया। क्रांतिनगर में रहने वाले 1300 नागरिकों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया गया। एनडीआरएफ  की टीम की तत्परता से भारी बारिश के बावजूद किसी प्रकार की जीवितहानि नहीं हुई।

बालासाहेब ठाकरे स्मारक पर गिरा पेड़
दादर स्थित शिवाजी पार्क के पास महापौर बंगला जो अब स्वर्गीय बाला साहेब ठाकरे स्मारक हुआ है, इसी परिसर में बुधवार को दोपहर एक विसालकाय पेड़ गिर गया, जिससे बंगले   की सुरक्षा दीवार गिर गई। पेड़ जब गिरा तब सड़क पर खड़ी एक कार उसकी चपेट में आ गई, जिससे कार चकनाचूर हो गई। मनपा को पेड़ गिरने की जानकारी मिलते ही  मनपाकर्मी घटनास्थल पर पहुंचकर पेड़ की टहनियों को निकालकर रास्ते को खाली किया। वहीं दीवार और पेड़ गिरने से कोई जनहानि नहीं हुई। आपको बता दें कि मनपा के  आपातकालीन विभाग से मिली जानकारी के अनुसार दादर शिवाजी पार्क स्थित केलुस्कर मार्ग पर पुराना महापौर बंगला जिसमें अब स्वर्गीय बाला साहेब ठाकरे का राष्ट्रीय स्मारक  बनाया जा रहा है।

जारी बारीश के कारण स्कूल- कालेज रहे बंद
मनपा द्वारा भारी बारिश को देखते हुए बुधवार को स्कूल-कॉलेजों की छुट्टी कर दी गई। साथ ही यह निर्देश भी जारी किया कि जिन स्कूलों में बच्चें पहुंचे हैं, उन बच्चों को प्रबंधन   सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए उनके घर पहुंचाएं।

बारीश के दौरान फंसे हुए यात्रिओं की मनपा द्वारा की गई व्यवस्था
भारी बारिश से उपनगरीय सेवा ठप हो जाने के बाद मनपा प्रशासन ने मनपा स्कूलों में फंसे हुए यात्रियों को रहने की व्यवस्था की है। मनपा ने 145 स्कूलों में लोगों को रहने की   व्यवस्था की गई है। जिसमें से स्टेशन के पास के स्थित छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस प्लेट फार्म क्रमांक सात-आठ के सामने जीपीओ के पास मनमोहन दास मनपा स्कूल।   मस्जिद रेलवे स्टेशन के पास जेआर मनपा स्कूल। मरीन लाइन स्टेशन के पास श्रीकांत पाटेकर मार्ग पर चंदन वाड़ी मनपा स्कूल। मुंबई सेंट्रल गिल्डर पथ लेन, ग्रांट रोड जगन्नाथ  शंकर सेठ मनपा स्कूल। भायखला स्टेशन के पास सावित्री फुले मनपा हिंदी स्कूल। परेल के पास हाफकीन इंस्टीट्यूट के पास बारादेवी मनपा स्कूल। लोअर परेल व करी रोड के बीच   एनएम जोशी मार्ग मनपा स्कूल और सालसेकर मनपा स्कूल। दादर में भवानी शंकर मनपा स्कूल और पुर्तगीच चर्च के पास गोखले मनपा क्रमांक दो स्कूल। दादर पश्चिम एवं माटुंगा  यशवंत नाटम्य गृह के पास दादर वूलन मिल मनपा स्कूल। माहिम स्टेशन के पास सोनेलाल अग्यारी रोड पर मोरी रोड मनपा स्कूल। बांद्रा में खेरवाड़ी मनपा स्कूल। सांताकू्रज पूर्व  स्टेशन के पास कालीना मनपा स्कूल और वकोला मनपा स्कूल। अंधेरी टाटा कंपाउंड मनपा स्कूल। बोरिवली पूर्व दत्तपाड़ा मनपा स्कूल और कस्तूरबा क्रॉस लेन मनपा स्कूल क्रमांक-  दो। बोरिवली पश्चिम सोडावाला मनपा स्कूल। घाटकोपर पश्चिम में साईं नगर मनपा स्कूल और बर्वे नगर मनपा स्कूल। पंतनगर मनपा स्कूल। गोवंडी में देवनार कॉलनी मनपा स्कूल  में लोगों को ठहरने की व्यवस्था मनपा प्रशासन द्वारा की गई है।

बारीश से जमा पानी को न्निकालने के लिये छह पंप शूरू
भारी बारिश में पानी निकासी करने के लिए मुंबई में लगाए गए सभी छह पंप शुरू कर दिए गए थे। इनके अलावा जगह-जगह लगाए गए सभी पंप शुरू किए गए थे।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget