प्लास्टिक बोतल की जगह बांस की बोतल

Bamboo Bottles
नई दिल्ली
प्लास्टिक की बोतल का विकल्प आखिरकार खोज लिया गया। एमएसएमई मंत्रालय के अधीन कार्यरत खादी ग्रामोद्योग आयोग ने बांस की बोतल का इजाद की है। इस बोतल की  क्षमता कम से कम 750 एमएल की होगा। कीमत 300 रुपए से शुरू होगी। यह बोतल पर्यावरण अनुकूल होने के साथ टिकाऊ भी होगी। एक अक्टूबर को केंद्रीय एमएसएमई मंत्री  नितिन गडकरी बांस की इस बोतल को लांच करेंगे। दो अक्टूबर से खादी स्टोर में इस बोतल की बिक्री शुरू हो जाएगी। दो अक्टूबर के दिन गांधी जयंती के अवसर पर सिंगल यूज प्लास्टिक के इस्तेमाल को बंद किया जा रहा है।

चीन करता है अपने फर्नीचर के निर्माण में 90 फीसदी तक बांस का इस्तेमाल
प्लास्टिक के गिलास को रिप्लेस करने के लिए केवीआईसी पहले ही मिट्टी के कुल्हड़ का निर्माण शुरू कर दिया है। अभी मिट्टी के एक करोड़ कुल्हड़ बनाए जा रहे हैं। केवीआईसी ने  चालू वित्त वर्ष के अंत तक एक करोड़ की क्षमता को 3 करोड़ तक ले जाने का लक्ष्य रखा है। केवीआईसी के चेयरमैन वीके सक्सेना ने एक दैनिक अखबार को बताया कि एक  अक्टूबर को बांस की बोतल के साथ एमएसएमई मंत्री कच्ची घानी के सरसों तेल की बिक्री का भी शुभारंभ करेंगे। उन्होंने बताया कि बांस की बोतल की बिक्री शुरू होने से भारी  संख्या में रोजगार निकलेंगे। बोतल से बांस की खुशबू भी लोगों को मिलती रहेगी। उन्होंने बताया कि भारत बांस का विश्व में दूसरा सबसे बड़ा उत्पादक देश हैं, लेकिन हम इसका  इस्तेमाल अपने उत्पादों में 5 फीसदी भी नहीं कर पाते हैं। जबकि चीन अपने फर्नीचर के निर्माण में 90 फीसदी तक बांस का इस्तेमाल करता है। सक्सेना ने बताया कि बांस की   बोतल की कीमत उसके आकार पर निर्भर करेगी।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget