राज्य में दोबारा बनेगी महायुति की सरकार : सीएम

मुंबई
विधानसभा चुनाव में भाजपा और शिवसेना की युति की चल रही अटकलों के बीच बुधवार को मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस और शिवसेना पक्ष प्रमुख उद्धव ठाकरे ने एक कार्यक्रम में मंच  साझा किया। जिसमें मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस ने युति पर बोलते हुए कहा कि राज्य में महायुति सरकार है और चुनाव बाद भी महायुति की सरकार बनेगी। बुधवार को नवी  मुंबई  के वाशी में माथाड़ी कामगार नेता और पूर्व विधायक अण्णासाहेब पाटिल की 86 वीं जयंती के उपलक्ष्य में कार्यकर्ताओं का भव्य सम्मेलन (मेलावा) आयोजित किया गया था, जिसमें  मुख्य अतिथि के रूप में शामिल मुख्यमंत्री ने कामगार कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि राज्य की तर्ज पर माथाड़ी कानून को पूरे देश में लागू करने के लिए प्रधानमंत्री  नरेंद्र मोदी प्रयास कर रहे हैं। राज्य सरकार माथाड़ी कामगारों की समस्याओं को गंभीरता से लेते उन्हें उससे निजात दिलाने के लिए काम कर रही है। महायुति सरकार की ताकत   माथाड़ी कामगारों को मिलेगी। मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस ने भाजपा और शिवसेना के बीच युति का संकेत देते हुए कहा कि मुझे पूरा विश्वास है कि चुनाव में माथाड़ी कामगारों का  पूरा समर्थन महायुति को ही मिलेगा।

विस मे हम चुनाव जितेंगे और महायुती की सरकार बनेगी - उद्धव
इस दौरान माथाड़ी कामगार सम्मेलन में उपस्थित शिवसेना पक्ष प्रमुख उद्धव ठाकरे ने भाजपा-शिवसेना युति पर बोलते हुए कहा कि हम चुनाव जीतेंगे और राज्य में महायुति की  सरकार बनेंगी। यह बताना इसलिए जरूरी है कि पिछले कई दिनों से भाजपा और शिवसेना की युति को लेकर सवाल उठाये जा रहे हैं। राकांपा के मुखिया शरद पवार के खिलाफ ईडी  द्वारा की गई कार्रवाई पर बोलते हुए ठाकरे ने कहा कि हम गंदी राजनीति नहीं करते और ना कभी ऐसा करेंगे। बुधवार को मुख्यमंत्री और उद्धव ठाकरे के एक मंच पर शामिल होने  पर पूरे राज्य का ध्यान दोनों नेताओं के कार्यक्रम पर था कि युति को लेकर उद्धव ठाकरे क्या बोलेंगे। लेकिन मुख्यमंत्री फड़नवीस और उद्धव ठाकरे विधानसभा चुनाव के बाद राज्य में  महायुति की ही सरकार बनेगी, कहकर युति को लेकर चल रहीं अटकलों पर विराम लगा दिया। बता दें कि माथाड़ी कामगारों द्वारा नवी मुंबई के वाशी में आयोजित कार्यकर्ता  सम्मेलन में मुख्यमंत्री और उद्धव ठाकरे को निमंत्रित किया गया था, जिसमें मुख्यमंत्री के पहुंचने के घंटों बाद उद्धव ठाकरे कार्यक्रम में पहुंचे। उद्धव ठाकरे के समय पर न पहुंचने से  कार्यकर्ता निराश होने लगे थे कि उद्धव ठाकरे कार्यक्रम में आएंगे या नहीं, जिसे दोनों पार्टियों की युति से भी जोड़ा जाने लगा था। इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस, शिवसेना  पक्ष प्रमुख उद्धव ठाकरे के अलावा भाजपा प्रदेशाध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल, शिवसेना सचिव मिलिंद नार्वेकर सहित बड़ी संख्या में पदाधिकारी और कार्यकर्ता उपस्थित थे।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget