महागठबंधन की पीसी में नहीं पहुंचे - मांझी

पटना
बिहार महागठबंधन में एकता दिखाने को एक बार फिर तमाम दलों के नेता जुटे हैं। बिहार महागठबंधन में शामिल तमाम दलों के नेता ने संयुक्त रूप से पटना के सदाकत आश्रम स्थित कांग्रेस  ऑफिस में प्रेस कांफ्रेंस कर रहे हैं। इसमें कांग्रेस, राष्ट्रीय लोक समता पार्टी और विकासशील इंसान पार्टी के अध्यक्ष तो पहुंचे हैं, लेकिन राष्ट्रीय जनता दल और हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा की ओर  से प्रेस कांफ्रेंस में प्रतिनिधि को भेजा गया है।
पीसी में तेजस्वी यादव और जीतनराम मांझी के नहीं पहुंचने को लेकर भी चर्चा तेज है। उधर बाकी नेताओं ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को निशाना बनाया है। बता दें कि पिछले माह  राजद कार्यालय में महागठबंधन की बैठक हुई थी। इधर, रविवार को महागठबंधन की बैठक में रालोसपा अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा, कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा, वीआईपी के अध्यक्ष  मुकेश सहनी सहित कांग्रेस के कई वरीय नेता पहुंचे हुए हैं। इसके साथ ही राजद और हम की ओर से भी उनके प्रतिनिधि पहुंचे हुए हैं। इसमें रालोसपा के प्रदेश अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा ने आगामी  12 अक्टूबर को डॉ राम मनोहर लोहिया की पुण्यतिथि पर बिहार महागठबंधन की ओर से बड़ा कार्यक्रम होगा। उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि महागठबंधन में कोई परेशानी नहीं है। बीच-बीच में  महागठबंधन को लेकर विरोधी कंफ्यूजन फैलाते रहते हैं, लेकिन सबों को लोहिया की पुण्यतिथि पर जवाब मिल जाएगा। उन्होंने कहा कि बापू सभागार में आयोजित कार्यक्रम में महागठबंधन के  सभी बड़े नेता मौजूद रहेंगे। उपेंद्र कुशवाहा को ही महागठबंधन की ओर से कार्यक्रम का संयोजक बनाया गया है।
पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह के राजद व जदयू के बीच पक रही खिचड़ी को लेकर दिए गए बयान पर जब पूछा गया, तो कुशवाहा ने कहा कि नीतीश कुमार को बिहार की जनता ने नकार  दिया है। वे अब अकेले नहीं लड़ सकते हैं। बता दें कि शनिवार को राजद के वरीय नेता रघुवंश प्रसाद सिंह ने कहा था कि नीतीश कुमार जल्द ही महागठबंधन में आएंगे। जदयू और राजद के बीच अंदरखाने में बात चल रही है।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget