जापान/ हगिबीस तूफान से 26 की मौत

Japan hagibis
टोक्यो
जापान में 60 साल के सबसे ताकतवर तूफान हगिबीस की चपेट में आकर अब तक 26 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं 46 लोग लापता हैं। सिर्फ 24 घंटे के अंदर ही कुछ जगहों  पर 93.5 सेंटीमीटर तक बारिश हुई। भारी बारिश के चलते कई इलाकों में बाढ़ आ गई। तूफान शनिवार को जापान के पूर्वोत्तर तट से टकराया था। चिबा, गुनमा, कनागावा और  फुकुशिमा में सबसे ज्यादा तबाही हुई है। स्थानीय मीडिया के मुताबिक, करीब 90 लोग घायल हैं। जापान में 'हगिबीस' से हुई तबाही पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुख जताया है।  पीएम ने ट्वीट करके कहा कि 'इस मुश्किल घड़ी में भारत जापान के साथ है। पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार जापान में मौजूद भारतीय नौसेना के जवान राहत कार्य में मदद  करने के लिए तैयार हैं।' 
भारी बारिश के बाद शहरों में 16 फीट तक पानी भरा तेज बारिश के चलते राजधानी टोक्यो के आस-पास ज्यादातर इलाकों में 16 फीट तक पानी भर गया है। टोक्यो से 50 किमी   दूर कावागोए शहर में बाढ़ की वजह से एक वृद्धाश्रम में 260 लोग फंस गए। प्रशासन उन्हें नावों के जरिए बाहर निकालने में जुटा है। इसके अलावा नागानो की चिकुमा नदी में बारिश  से रेलवे ब्रिज ढह गया। ज्यादातर इलाकों में ट्रेन सेवाओं को भी रोक दिया गया। सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाए गए लोग तूफान के असर से शनिवार को राजधानी टोक्यो का आसमान  गुलाबी और बैंगनी हो गया था। तटीय इलाकों में 180 किमी/घंटे की रफ्तार से हवाओं और भारी बारिश से कई घरों को नुकसान पहुंचा। केंटो और शिजुओ का इलाके में 2 लाख 12  हजार घरों में बिजली सप्लाई बाधित हो गई। प्रशासन ने करीब 42 लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया है। तूफान को 'हगिबीस' नाम फिलीपींस ने दिया है। वहां की भाषा में  इसका अर्थ 'रफ्तार' होता है।

बांध से पानी छोड़ने के बाद बाढ़ की चेतावनी
जलस्तर बढ़ने की वजह से जापान के सबसे बड़े बांध शिरोआमा से पानी छोड़ा जा रहा है। अधिकारियों ने चेतावनी दी है कि सागामी नदी और उसके आस-पास के इलाकों में बाढ़ के  हालात बन सकते हैं। इसके बाद फुकुशिमा, तोचिगी, गुन्मा, साइतामा, चीबा, टोक्यो, कानागावा, यामानाशी, नगानो, शिजुओका और माई में करीब 8 लाख 13 हजार लोगों को तुरंत  घर छोड़कर सुरक्षित स्थानों पर भेजने के आदेश दिए गए हैं। जापान में 1958 में इसी तरह के तूफान से भारी तबाही हुई थी। तब 1200 लोग मारे गए थे और हजारों बेघर हो गए थे।

सभी हवाई और ट्रेन सेवाएं बंद की गईं
जापान में सभी हवाई सेवाओं को स्थगित कर दिया गया है। जापानी कंपनियों ने 1929 अंतर्राष्ट्रीय और घरेलू उड़ानें रद्द कर दी हैं। इशके अलावा टोक्यो में सभी सिनेमाघर, शॉपिंग  मॉल और कारखाने बंद कर दिए गए हैं। लोगों को घरों में रहने की सलाह दी गई है।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget