Ayushman Bharat yojana
नई दिल्ली
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली के विज्ञान भवन में आयुष्मान भारत के एक वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य में आयोजित किए गए कार्यक्रम आरोग्य मंथन को संबोधित किया। पीएम मोदी  ने इस कार्यक्रम में कहा कि आयुष्मान भारत का ये पहला वर्ष संकल्प, समर्पण, सीख का रहा है। पीएम मोदी ने कहा कि ये भारत की संकल्प शक्ति ही है कि हम दुनिया की सबसे  बड़ी हेल्थ केयर स्कीम भारत में सफलता के साथ चला रहे हैं। पीएम ने कहा इस सफलता के पीछे समर्पण की भावना है। ये समर्पण देश के हर राज्य और केंद्र शासित प्रदेश का है।  पीएम मोदी ने कहा देश के 46 लाख गरीब लोगों में बीमारी की निराशा से स्वस्थ होने की आशा जगाना बहुत बड़ी सिद्धि है। इस एक वर्ष में किसी एक व्यक्ति की जमीन, घर,   गहने या कोई अन्य सामान बिकने से बचा है, तो ये आयुष्मान भारत की बहुत बड़ी सफलता है।

'इस कार्य में जुटे हर शख्स को बधाई'
पीएम मोदी ने कहा  PM-JAY अब गरीबों की जय बन गई है। जब गरीब का बच्चा या घर का एक मात्र कमाने वाला स्वस्थ होकर निकलता है तो आयुष्मान होने का अर्थ समझ   आता है। उन्होंने कहा इस महान कार्य में जुटे हर साथी को मैं साधुवाद देता हूं, बधाई देता हूं। प्रधानमंत्री ने कहा कि देश के हर नागरिक को घर के पास ही बेहतरीन स्वास्थ  सुविधाएं मिलें इसके लिए हर राज्य प्रयास कर रहे हैं। हर भारतीय नागरिक का दायित्व है कि देश का कोई भी व्यक्ति आधुनिक स्वास्थ सेवाओं से वंचित नहीं रहना चाहिए। आयुष्मान भारत इसी भावना को मजबूत कर रही है।

'न्यू इंडिया के क्रांतिकारी कदमों में से एक' 
पीएम मोदी ने न्यू इंडिया का जिक्र करते हुए कहा कि आयुष्मान भारत न्यू इंडिया के क्रांतिकारी कदमों में से एक है। सिर्फ इसलिए नहीं कि ये सामान्य मनुष्य के जीवन को बचाने  में अहम भूमिका निभा रहा है, बल्कि ये देश के 130 करोड़ लोगों के सामूहिक संकल्प और सामर्थ्य का भी प्रतीक है। प्रधानमंत्री ने कहा कि आयुष्मान भारत संपूर्ण भारत के लिए  सामूहिक समाधान के साथ-साथ, स्वस्थ भारत के समग्र समाधान की भी योजना है। ये सरकार की उस सोच का विस्तार है जिसके तहत हम भारत की समस्याओं और चुनौतियों से  निपटने के लिए टुकड़ों में सोचने के बजाय समग्रता में काम कर रहे हैं।

10 हजार निजी अस्पतालों में है ये योजना 
प्रधानमंत्री ने कहा कि आयुष्मान भारत देश के किसी भी हिस्से में मरीजों को बेहतर इलाज सुनिश्चित करती है, इसलिए देश के करीब 50 हजार लाभार्थियों ने बेहतर इलाज के लिए अपने राज्य के बाहर इस योजना का लाभ लिया है। पीएम ने कहा कि आयुष्मान भारत से देश में स्वास्थ्य सेवाओं की डिमांड में बढ़ोतरी हो रही है। अब वो मरीज भी अस्पताल  पहुंच रहा है जो पहले इलाज के बारे में सोचता तक नहीं था। 

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget