प्याज उत्पादक किसानों ने किया आंदोलन

मुंबई/नासिक
सोमवार को नासिक मंडी में प्याज की नीलामी शुरू होने से पहले किसान और व्यापारी दोनों भड़क गए। केंद्र सरकार ने प्याज के निर्यात पर रोक लगाकर इसकी कीमत को कम  करने की कोशिश की है, जिस पर आंदोलन भड़क गया है। रविवार को सरकार की निर्यात की रोक की घोषणा का सोमवार को नासिक प्याज मंडी में व्यापक प्रतिक्रिया हुई। नीलामी  शुरू होती इससे पहले ही किसान और व्यापारियों ने विरोध शुरू कर दिया। रास्ते रोके गए, तो धरना देकर आक्रोश जताया गया। इसके कारण सुबह 11 बजे तक नीलामी शुरू नहीं हो  पाई। नासिक में नीलामी के बाद ही देश भर में प्याज की कीमत तय हो पाती है।
किसानों का कहना है कि जब प्याज की कीमत घटती है तो उन्हें नुकसान होता है, फिर सरकार की ओर से उन्हें कोई मुआवजा नहीं मिलता है। किसानों ने मालेगांव तहसील के मुंगसे, देवला तहसील के उमराणे आदि क्षेत्रों में सड़क जाम कर दिया। दूसरी ओर निफाड तहसील के विचुर में किसान आंदोलन पर उतरे और विरोध शुरू किया, इसी बीच पुलिस ने  उन्हेंं गिरफ्तार कर लिया। व्यापारियों ने भी लासलगांव, देवला, सटाणा, नांदगाव, पिंपलगाव बसवंत समेत अन्य कृषि उत्पादन मंडियों में नीलामी रोकी है। व्यापारियों ने सरकार के  प्याज स्टॉक संबंधी रोक को भी हटाने की मांग कर रहे थे।

Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget