आघाड़ी की घोषणा के पहले ही बिगड़ी बात

Congress RCP
मुंबई
कांग्रेस-राकांपा की महाआघाड़ी में बिगाड़ पड़ गया है। महाआघाड़ी से तलाक के बाद समाजवादी ने राज्य की 40 सीटों पर चुनाव लड़ने की घोषणा की है। सपा की 3 से 4 सीटों की  मांग थी, लेकिन कांग्रेस ने उसकी मांग को अनसुना कर दिया। अंदर की खबर है कि महाराष्ट्र कांग्रेस के मुखिया को सपा से गठबंधन करने के लिए हाईकमान की अनुमति नहीं मिल  रही थी। कांग्रेस हाईकमान शायद समाजवादी पार्टी से उत्तर प्रदेश लोकसभा चुनाव का बदला महाराष्ट्र विधानसभा के चुनाव में लेना चाहता है। यूपी लोकसभा चुनाव के वक्त सपा- बसपा गठबंधन ने कांग्रेस को अपने हाल पर छोड़ दिया था। अब सपा की साइकिल महाराष्ट्र में कितने स्थानों पर महाआघाड़ी को पंक्चर करेगी, यह बात 24 अक्टूबर को चुनाव  परिणाम के दिन पता चलेगी।

सबसे मुश्कील मुकाबला
महाराष्ट्र की राजनीति में पिछले पांच दशक से सक्रिय शरद पवार सबसे कड़े मुकाबले का सामना कर रहे हैं। ईडी प्रकरण और भतीजे अजित पवार के इस्तीका प्रकरण के बाद  वे  फिर से प्रचार के मैदान में कूद पड़े हैं। मंगलवार को उनकी उस्मानाबाद में सभा हुई। गुरुवार को वे मुंब्रा, ठाणे में सभाएं लेंगे। महाआघाड़ी की तरफ से शरद पवार अकेले ही मैदान   में हैं। अभी तक कांग्रेस के किसी राष्ट्रीय नेता का उन्हें साथ नहीं मिला है। कांग्रेस की सुस्ती देखकर लग रहा है, उसे भगवान पर ज्यादा भरोसा है, या उसने पहले से हवा को भांप लिया है?

चुनाव पर आयकर विभाग की नजर
विधानसभा चुनाव में बड़े लेन-देन पर आयकर विभाग की नजर रहेगी। इनकम टैक्स विभाग ने 603 विशेष आयकर अधिकारियों को तैनात किया है, जो चुनाव में कालेधन के  इस्तेमाल को रोकेंगे। आयकर विभाग ने टोल फ्री नंबर और व्हाट्सएप नंबर भी जारी किया है, जिस पर लोग शिकायत दर्ज करा सकेंगे। इसके अलावा एयरपोर्ट पर भी आयकर  विभाग की टीम तैनात रहेगी। ऐसे में वे लोग सावधान हो जाएं जो अपने साथ मोटी रकम लेकर चलते हैं। बड़ी रकम लेकर चलें भी तो उसके सभी दस्तावेज लेकर चलें। वर्ना आप  इनकम टैक्स वालों के चक्कर में पड़ सकते हैं। 

Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget