कश्मीर पर किसी का हस्तक्षेप बर्दाश्त नही

Amit shah
मुंबई
महाराष्ट्र में बुलढाणा जिला के चिखली में चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि हम राजनीति से ज्यादा भारत के भविष्य की चिंता करते हैं।  उन्होंने कश्मीर का जिक्र करते हुए कहा कि हम कश्मीर मुद्दे पर किसी अन्य देश का हस्तक्षेप नहीं चाहते हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति हो या कोई और, मोदी जी ने स्पष्ट शब्दों में कहा  कि कश्मीर हमारा आंतरिक मामला है, इसमें हस्तक्षेप न करें। शाह ने कहा कि महाराष्ट्र को सुरक्षित रखने और विकसित बनाने के लिए नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली भाजपा-शिवसेना  की सरकार बनाना जरूरी है। काग्रेस और एनसीपी पर करारा हमला करते हुए गृहमंत्री ने कहा कि एनसीपी-कांग्रेस सरकार ने राज्य में 15 साल तक लूट मचाई है। उन्होंने कहा कि  भ्रष्टाचार कांग्रेस और एनसीपी का संस्कार है। कांग्रेस और एनसीपी अपने बेटों के विकास के लिए काम कर रही है, सभी की संताने इस बार चुनावी मैदान में हैं। उन्होंने कहा कि  कांग्रेस ने विदर्भ के साथ अन्याय किया है, जबकि भाजपा ने न्याय के साथ उसका विकास भी किया है। कांग्रेसी कह रहे हैं कि अनुच्छेद 370 हटाने से महाराष्ट्र वालों को क्या  मतलब जबकि सिर्फ महाराष्ट्र ही नहीं देश की समग्र जनता चाहती है कि कश्मीर भारत का अभिन्न अंग बना रहे।
70 वर्षों से आतंक के साए में जी रहे कश्मीर में हजारों लोगों की मौत हो चुकी है, कांग्रेस और एनसीपी ने हमेशा 370 हटाने का विरोध किया, लेकिन भाजपा ने इसे हटाकर दिखा  दिया। कांग्रेस के नेता गुलाम नबी आजाद कहते थे कि 370 हटाने से कश्मीर में खून की नदियां बहेगी, लेकिन वहां खून का एक कतरा भी नहीं बहा। शाह ने कहा कि कांग्रेस- एनसीपी देश को सुरक्षित नहीं रख सकते और न ही महाराष्ट्र को। देश को और महाराष्ट्र को सुरक्षित रखने और विकसित बनाने के लिए महाराष्ट्र में नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली  भाजपा- शिवसेना की सरकार बनाना जरूरी है।
उन्होंने कहा कि विकास कार्यों के मामले में भाजपा सरकार ने कांग्रेस-एनसीपी के मुकाबले कहीं ज्यादा काम किया है। मगर ये चुनाव अनुच्छेद 370 हटने के बाद पहला चुनाव है।  इस चुनाव में दुनिया में ये संदेश जाना चाहिए कि पूरा भारत 370 हटाने के पक्ष में एकजुट है। भ्रष्टाचार कांग्रेस और एनसीपी का संस्कार है। मैं दावे के साथ आप सभी को कहता हूं  कि नरेन्द्र मोदी जी और देवेंद्र फड़नवीस पर हमारे विरोधी भी भ्रष्टाचार का एक भी आरोप नहीं लगा सकते, ऐसी पारदर्शी सरकारें देने का काम भाजपा ने किया है।
महाराष्ट्र में एनसीपी-कांग्रेस सरकार ने राज्य में 15 साल तक लूट मचाई है। कांग्रेस और एनसीपी अपने बेटों के विकास के लिए काम कर रही है। शरद पवार, सुप्रिया सुले, अजीत  पवार और उनके बेटे, सभी इस बार चुनावी मैदान में हैं। क्यों भाई और किसी के पास टेलेंट नहीं है क्या? ये परिवारवादी पार्टियां महाराष्ट्र का विकास नहीं कर सकती हैं।
पहले कहा जाता था कि विदर्भ में बिजली बनती है, मगर यहां बिजली पहुंचती नहीं है, देवेंद्र फड़नवीस सरकार ने समग्र विदर्भ में बिजली पहुंचाई है और 5 साल के अंदर उद्योगों के  2 रुपए प्रति यूनिट बिजली में छूट देकर उद्योगों को बढ़ावा देने की शुरुआत की है। शाह ने कहा कि कांग्रेस की जितनी भी सरकारें रहीं, सभी ने विदर्भ के साथ अन्याय किया,   जबकि भाजपा ने विदर्भ को न्याय दिलाने के साथ-साथ उसे विकास के रास्ते पर आगे ले जाने का कार्य भी किया है। हमने समग्र महाराष्ट्र का विकास किया है, महाराष्ट्र ने पिछले   पांच वर्षों में दोहरे इंजन वाले सरकार का लाभ उठाया है। 

केंद्र में पीएम मोदी, और महाराष्ट्र में सीएम फड़नवीस।
कांग्रेसी कह रहे हैं कि अनुच्छेद 370 हटाने से महाराष्ट्र वालों को क्या मतलब। मैं यहां की जनता को पूछना चाहता हूं कि कश्मीर भारत का अभिन्न अंग हो ये आप चाहते हैं या  नहीं? सिर्फ महाराष्ट्र ही नहीं देश की समग्र जनता चाहती है कि कश्मीर भारत का अभिन्न अंग बना रहे। 70 साल से आतंकवाद झेल रहे कश्मीर में 40 हजार से ज्यादा लोग मारे  गए। इसके बावजूद भी कांग्रेस और एनसीपी अपनी वोटबैंक की राजनीति के लिए 370 को हटाने का विरोध करती रही।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget