महात्मा गांधी के सपनों के अनुरूप हमारी व्यवस्था : पीएम

Narendra Modi
अहमदाबाद
महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर देश को खुले में शौच मुक्त घोषित कर पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि उनकी सरकार ने ऐसी व्यवस्था बनाने की कोशिश की है, जैसी बापू चाहते  थे। उन्होंने कहा कि बापू आखिरी आदमी के लिए फैसले की बात करते थे। हमने उज्ज्वला योजना, सौभाग्य योजना और स्वच्छता योजना से इसे व्यवस्था का हिस्सा बना दिया है।  पीएम मोदी ने कहा कि स्वच्छ भारत मिशन के तहत 60 महीने में 60 करोड़ लोगों के लिए शौचालय तैयार किए गए। 11 करोड़ शौचालयों के निर्माण की बात सुनकर विश्व  अचंभित है।

पीएम ने स्वच्छ भारत मिशन की सफलता का स्रोत बताया
स्वच्छता के चलते गरीब का इलाज पर होने वाला खर्च कम हुआ है। इस अभियान ने ग्रामीण इलाकों और आदिवासी अंचलों में रोजगार के नए अवसर दिए हैं। महात्मा गांधी की  150वीं जयंती के मौके पर पीएम मोदी ने कहा कि ग्रामीण भारत के लोगों ने खुद को खुले में शौच से मुक्त घोषित किया।

पांच साल मैंने गांधी के संदेश से लोगों को पुकारा था 
पीएम मोदी ने कहा कि पांच साल पहले मैंने जब लोगों को  पुकारा था तो हमारे पास सिर्फ विश्वास और गांधी जी का अमर संदेश था। वह कहते थे कि हमें खुद में बदलाव लाना होगा। इसी संदेश के तहत हमने झाड़ू उठाई और निकल पड़े। स्वच्छता, गरिमा और सम्मान के इस यज्ञ में सबने योगदान दिया। पीएम ने कहा कि इसी साबरमती के किनारे  महात्मा गांधी ने सत्य के प्रयोग किए थे। साबरमती रिवरफ्रंट पर इस कार्यक्रम का आयोजन होना दोहरी खुशी का विषय है।

शादी के लिए बेटियों ने रखी शौचालय की शर्त
स्वच्छता मिशन की सफलता का जिक्र करते हुए पीएम ने कहा कि किसी बेटी ने शादी के लिए शौचालय की शर्त रख दी तो कहीं इसे इज्जत घर का दर्जा मिला, जिसे लेकर कभी  हिचक होती थी, आज वह चर्चा का विषय बन गया है। उन्होंने कहा कि यह अभियान जीवन रक्षक भी सिद्ध हो रहा है और जीवन स्तर को बढ़ाने का भी काम कर रहा है। इससे देश  में बहनों और बेटियों की सुरक्षा और सशक्तिकरण की स्थिति में अद्भुत बदलाव आया है।

अभी तो सिर्फ पड़ाव है, बहुत कुछ है बाकी
यही मॉडल तो महात्मा गांधी चाहते थे। अब सवाल यह है कि क्या हमने जो हासिल कर लिया है, वह काफी है क्या? इसका जवाब सीधा और स्पष्ट है, वह सिर्फ और सिर्फ एक  पड़ाव है। स्वच्छ भारत के लिए हमारा सफर निरंतर जारी है। अभी हमने शौचालयों का निर्माण किया है। जो लोग अब भी इससे छूटे हुए हैं, उन्हें भी इस सुविधा से जोड़ना है। भारत  का खुले में शौच मुक्त होना किसी पीएम की सफलता नहीं है, बल्कि यह देशवासियों की सफलता है।

अब सिंगल यूज प्लास्टिक के खिलाफ अभियान
पीएम मोदी ने कहा कि सरकार ने जो जल-जीवन मिशन शुरू किया है, उससे भी महात्मा गांधी के सपनों को साकार करने में मदद मिलने वाली है। हम वॉटर रिचार्ज के लिए जो  भी प्रयास कर सकते हैं, वो करने चाहिए। सरकार ने जल- जीवन मिशन पर साढ़े तीन लाख रुपये खर्च करने का फैसला लिया है, लेकिन देशवासियों की भागीदारी के बिना इस  विराट कार्य को पूरा करना मुश्किल है।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget