राफेल में लगी ये दो मिसाइलें बनेंगी गेमचेंजर

Rajnath Singh
नई दिल्ली
मिटिओर, स्काल्प मिसाइलों के चलते राफेल और ज्यादा मारक साबित होगा। भारत 36 राफेल विमानों में से पहले चार विमान मई 2020 तक प्राप्त करेगा। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह  आठ अक्टूबर को फ्रांस में पहला राफेल लड़ाकू विमान प्राप्त करेंगे। वे उसी दिन दो सीटों वाले विमान के ट्रेनर वर्जन में उड़ान भी भरेंगे। इस बीच यूरोपीय मिसाइल कंपनी एमबीडीए  ने कहा है कि राफेल में अति आधुनिक मिटिओर और स्काल्प मिसाइलें तैनात होंगी जो दुश्मनों के लक्ष्य को काफी गहराई तक भेदने में कारगर साबित होंगी। इन दोनों मिसाइलों के  चलते राफेल और ज्यादा मारक साबित होगा।

दशहरे पर फ्रांस में शस्त्र पूजा करेंगे राजनाथ सिंह
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह इस बार फ्रांस में शस्त्र पूजा करेंगे, क्योंकि वह दशहरे के दिन वहीं रहेंगे। राजनाथ फ्रांस से राफेल लड़ाकू विमान लाने जा रहे हैं। पैरिस में 8 अक्टूबर को  पहला राफेल विमान भारत को मिलेगा। उसी दिन वह राफेल में उड़ान भी भरेंगे। अधिकारिक सूत्रों ने बताया कि वह फ्रांसीसी एयरफोर्स के बेस पर से उड़ान भरेंगे। सूत्रों ने कहा कि  डिफेंस मिनिस्टर 7 अक्टूबर को तीन दिवसीय यात्रा के लिए पेरिस रवाना होंगे, जहां 8 अक्टूबर को भारतीय वायुसेना के स्थापना दिवस पर भारत को पहला राफेल लड़ाकू विमान  सौंपा जाएगा। फ्रांस को कुल 36 राफेल लड़ाकू विमान सौंपने हैं। सूत्रों ने कहा कि रक्षा मंत्री विमान हासिल करने के बाद उसमें उड़ान भरेंगे। कार्यक्रम में फ्रांस के शीर्ष सैन्य  अधिकारियों के साथ साथ राफेल की निर्माण कंपनी दसॉ एविएशन के वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद रहेंगे। सिंह 9 अक्टूबर को फ्रांस के शीर्ष रक्षा अधिकारियों के साथ दोनों देशों के  बीच रक्षा और सुरक्षा सहयोग बढ़ाने के उपायों पर व्यापक चर्चा करेंगे। सूत्रों ने कहा कि भारतीय वायुसेना का एक उच्चस्तरीय दल फ्रांसीसी अधिकारियों के साथ कार्यक्रम को लेकर समन्वय के लिए पहले से ही पैरिस में है। भारत ने 2016 में फ्रांस के साथ 58 हजार करोड़ रुपए में 36 लड़ाकू विमान खरीदने का करार किया था। यह विमान बड़ी मात्रा में शक्तिशाली हथियार और मिसाइल ले जाने में सक्षम हैं।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget