भारत - चीन : संबंधोंको मजबूती देने का संकल्प

दोनों देशों में सहयोग के नए युग की होगी शुरुआत

Modi Jinping
मामल्लापुरम
चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ पिछले दो दिनों में कई सत्रों में हुई आमने- सामने की करीब साढ़े पांच घंटे की बातचीत के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को कहा कि  'चेन्नई कनेक्ट' के जरिए भारत और चीन के संबंधों में सहयोग का आज से एक नया युग शुरू होने जा रहा है। अनौपचारिक शिखर वार्ता के दूसरे एवं अंतिम दिन मामल्लापुरम के  एक लक्जरी रिजॉर्ट में शी के साथ शिष्टमंडल स्तर पर हुई बातचीत में पीएम मोदी ने कहा कि पिछले 2000 साल से भारत और चीन आर्थिक शक्तियों के तौर पर तेजी से आगे  उभरे हैं। दोनों ही देश आपसी मतभेदों को किसी भी तरह का झगड़ा नहीं बनने देंगे। वहीं चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने कहा कि मैं भारत की मेहमान नवाजी से अभिभूत हूं।  पीएम नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रपति शी जिनपिंग को शॉल भेंट की। इस शॉल पर राष्ट्रपति शी जिनपिंग की पोट्रेट बनी है। इस शॉल को कोयंबटूर जिले में श्रीरामलिंग सोवदंबीगई हैंडलूम  वीवर्स को ऑपरेटिव सोसायटी के बुनकरों ने तैयार किया है। पीएम मोदी ने कहा कि दोनों देशों के बीच आपसी रिश्ते और मजबूत हुए हैं। पीएम ने कहा कि हमने तय किया था कि  हम मतभेदों को आपसी बातचीत से दूर करेंगे और किसी भी तरह का विवाद नहीं बनने देंगे। उन्होंने कहा कि हम एक-दूसरे के मामले में संवेदनशील रहेंगे। पीएम ने कहा कि हमारे  संबंध विश्व में शांति और स्थिरता का कारक होंगे। उन्होंने कहा कि 'चेन्नई कनेक्ट' के जरिए आज से सहयोग का नया युग शुरू होगा। मोदी ने कहा कि हमने मतभेदों को विवेकपूर्ण  ढंग से सुलझाने और उन्हें विवाद का रूप नहीं लेने देने का निर्णय किया है। हमने तय किया है कि हम एक-दूसरे की चिंताओं के प्रति संवेदनशील रहेंगे। शिष्टमंडल स्तर की वार्ताओं से पहले, शी और मोदी के बीच फिशरमैन कोव रिजॉर्ट में आमने-सामने की करीब एक घंटे बातचीत हुई, जिसमें द्विपक्षीय सहयोग बढ़ाने के लिए संबंधों को नए सिरे से निखारने की  मंशा का स्पष्ट संकेत दिया गया। दोनों नेताओं को समुद्र तट के पास चहलकदमी करने के दौरान भी बातचीत करते देखा गया। इससे पहले मोदी और शी एक गोल्फ गाड़ी में सवार होकर साथ में रिजॉर्ट पहुंचे।
भारत द्वारा जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा वापस ले लेने और राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांटने के फैसले के बाद दोनों देश के बीच तनाव बढ़ने के बीच शी शुक्रवार को यहां  पहुंचे थे। शुक्रवार को मोदी और शी ने रात्रिभोज के दौरान करीब ढाई घंटे बातचीत की थी। उन्होंने आतंकवाद तथा कट्टरवाद से मिलकर निपटने और द्विपक्षीय संबंधों को नए आयाम  देने की प्रतिबद्धता जताई थी।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget