रोहित के शतकों की जोड़ी से भारत मजबूत

Rohit Sharma
विशाखापत्तनम
पहली बार सलामी बल्लेबाज के तौर पर खेल रहे रोहित शर्मा की रिकॉर्ड पारी के दम पर भारत ने एसीए-वीसीए स्टेडिमय में जारी पहले टेस्ट मैच के चौथे दिन शनिवार को साउथ  अफ्रीका के सामने 395 रनों का मजबूत लक्ष्य रखा, जिसके जवाब में मेहमान टीम अच्छी शुरुआत नहीं कर सकी। चौथे दिन का खेल खत्म होने तक साउथ अफ्रीका ने अपनी दूसरी  पारी में एक विकेट खोकर 11 रन बना लिए हैं। खराब रोशनी के कारण हालांकि दिन का खेल समय से पहले खत्म कर दिया गया। एडिन मार्करम तीन और थेयुनिस डे ब्रयून पांच   रन बनाकर खेल रहे हैं। भारत ने अपनी पहली पारी सात विकेट के नुकसान पर 502 रनों पर घोषित की थी। साउथ अफ्रीका ने भी संघर्ष किया और अपनी पहली पारी में 431 रन  बनाए। भारत दूसरी पारी में 71 रनों की बढ़त के साथ उतरी थी। साउथ अफ्रीका अभी भी लक्ष्य से 384 रन दूर है। मेहमान टीम ने पहली पारी में शतक लगाने वाले डीन एल्गर (2)  के रूप में अपना एक विकेट खोया। वह रविंद्र जडेजा का शिकार बने। जडेजा की अपील पर हालांकि मैदानी अंपायर ने उन्हें नॉट आउट करार दे दिया था, लेकिन भारत ने रिव्यू  लिया जो एल्गर के खिलाफ रहा। मैच का चौथा दिन पूरी तरह से रोहित शर्मा के नाम रहा। रोहित इस मैच में टेस्ट में बतौर सलामी बल्लेबाज पहली बार खेल रहे हैं और वह दोनों  पारियों में शतक लगाने में भी सफल रहे। पहली पारी में 176 रन बनाने वाले रोहित ने दूसरी पारी में 127 रनों का योगदान दिया। वह एक टेस्ट मैच की दोनों पारियों में शतक   जमाने वाले भारत के छठे बल्लेबाज बने हैं। रोहित को पहली पारी में आउट करने वाले केशव महाराज ने ही इस पारी में भी उनका विकेट लिया। दोनों बार वह स्टंपिंग हुए। वह टेस्ट की दोनों पारियों में स्टंपिंग होने वाले पहले भारतीय हैं। रोहित ने 149 गेंदों का सामना कर 10 चौके और सात छ€के मारे। इसी के साथ रोहित एक टेस्ट मैच में सबसे ज्यादा   छ€के मारने वाले बल्लेबाज बन गए हैं। उन्होंने पहली पारी में छह छ€के लगाए थे। भारत ने इस मैच में कुल 27 छ€के लगाए हैं, जो एक टेस्ट में किसी भी टीम द्वारा लगाए गए  सबसे ज्यादा छ€के हैं। 2014 में न्यूजीलैंड ने पाकिस्तान के खिलाफ 22 छ€के लगाए थे।
इससे पहले भारत ने 2009 में श्रीलंका के खिलाफ मुंबई में टेस्ट मैच में 15 छ€के लगाए थे। रोहित का चेतेश्वर पुजारा ने बखूबी साथ दिया। पुजारा ने 81 रनों की पारी खेली। दोनों  ने दूसरे विकेट के लिए 169 रन जोड़े। भारत की दूसरी पारी की शुरुआत अच्छी नहीं रही थी। पहली पारी में दोहरा शतक मारने वाले मयंक अग्रवाल (7) को महाराज ने अपना  शिकार बनाया। इसके बाद हालांकि पुजारा और रोहित ने साउथ अफ्रीकी गेंदबाजों की अच्छी खबर ली। पुजारा पहले सत्र में बेहद धीमा खेले, लेकिन दूसरे सत्र में उन्होंने अच्छी  स्ट्राइक रेट से रन बनाए। दूसरे सत्र में दोनों खिलाड़ियों ने भारत का कोई भी विकेट नहीं गिरने दिया। तीसरे सत्र में वार्नोन फिलेंडर की एक गेंद पुजारा के पैड पर लगी और अंपायर  ने उंगली उठा पुजारा को पैवेलियन भेज दिया। पुजारा ने 148 गेंदें खेलीं और 13 चौकों सहित दो छ€के मारे। पुजारा का विकेट 190 के कुल स्कोर पर गिरा। पुजारा के जाने के बाद  रोहित ने अपना शतक पूरा किया और फिर आक्रामक हो गए।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget