फड़नवीस के नेतृत्व में महाराष्ट्र समृद्धि की ओर : स्मृति ईरानी

Smriti Irani
मुंबई
राज्य में 21 अक्टूबर को होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नौ रैलियां आयोजित की गई हैं। आगामी 13 से 18 अक्टूबर बीच प्रधानमंत्री पूरे महाराष्ट्र में  नौ जनसभाओं को संबोधित करेंगे। शुक्रवार को नरीमन पॉइंट स्थित भाजपा प्रदेश कार्यालय में आयोजित पत्रकार परिषद को संबोधित करते हुए केंद्रीय महिला बाल विकास मंत्री  स्मृति ईरानी ने यह जानकारी दी। ईरानी ने बताया कि आगामी 13 अक्टूबर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जलगांव, उसके बाद भंडारा जिले के साकोली में रैली आयोजित की गई है।  केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी में बताया कि पीएम मोदी 16 अक्टूबर को तीन जनसभाओं को संबोधित करेंगे, जिनमें अकोला, ऐरोली (नवीमुंबई ) के बाद परतूर (जालना) शामिल हैं।  प्रधानमंत्री 17 अक्टूबर को सातारा, पुणे के बाद राज्य की महिला बालविकास मंत्री पंकजा मुंडे के विधानसभा क्षेत्र परली में जनसभा को संबोधित करेंगे। वहीं चुनाव प्रचार के आखिरी  दिन के एक दिन पहले यानी 18 अक्टूबर को प्रधानमंत्री मोदी की मुंबई में रैली आयोजित की गई है, जहां पीएम एक भव्य जनसभा को संबोधित करेंगे। ईरानी ने राज्य की पिछली  आघाड़ी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि राज्य में जो विकास कार्य पिछले 15 साल में नहीं हुआ वो देवेंद्र फड़नवीस के नेतृत्व वाली राज्य सरकार ने पांच साल में करके  दिखाया है। स्मृति ईरानी ने कहा कि राज्य में पांच वर्ष पहले किसानों की हालत क्या थी। आघाड़ी सरकार के 15 साल के कार्यकाल में फसल बीमा योजना के तहत साढ़े सात हजार  करोड़ रुपए की नुकसान भरपाई किसानों को दी गई थी, जबकि राज्य की देवेंद्र फड़नवीस के नेतृत्व वाली सरकार के पांच साल के कार्यकाल के दौरान 21 हजार 950 करोड़ रुपए  नुकसान भरपाई दी गई। ईरानी ने प्रधानमंत्री मोदी और मुख्यमंत्री फड़नवीस द्वारा पिछले पांच साल में किए गए विकास कार्यों की उपलब्धियों को गिनाते हुए कहा कि केंद्र की नरेंद्र  मोदी सरकार ने पिछले पांच साल में 25 हजार करोड़ रुपए का किसानों का कर्ज माफ किया है। मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस के नेतृत्व में पिछले पांच वर्ष में राज्य के किसानों, मजदूरों  सहित सभी समाज का विकास हुआ है। कांग्रेस-राकांपा पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि राज्य में महायुति सरकार आने से पहले मुंबई में हर रोज दंगा और बम धमाके होते थे,  लेकिन राज्य में देवेंद्र फड़नवीस की सरकार आने के बाद पूरे पांच वर्ष में एक भी दंगा या बम विस्फोट जैसी घटना नहीं हुई। स्मृति ईरानी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जैसे  व्यक्ति की तुलना राहुल गांधी से करना ठीक नहीं है। जो व्यक्ति अमेठी लोकसभा चुनाव में हारने के बाद अनुच्छेद 370 और 35ए रद्द करने का पाकिस्तान की तरह विरोध कर  सकता है उससे क्या अपेक्षा की जा सकती है। ईरानी ने कहा कि राहुल पार्टी संगठन के लिए समस्या बन चुके हैं।

Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget