क्या हम राष्ट्रवादी नहीं : गेहलोत

Ashok Gehlot
मुंबई
राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गेहलोत का कहना है कि केंद्र सरकार को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ चला रहा है, भाजपा केवल मुखौटा है। भाजपा को कोई भी नियुक्ति करने से पहले  संघ की अनुमति लेनी पड़ती है। गेहलोत यहां मुंबई कांग्रेस कार्यालय में एक प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित कर रहे थे। कांग्रेस के लगातार कमजोर होने के सवाल पर गेहलोत ने कहा कि  कांग्रेस का भविष्य उज्ज्वल है। भाजपा का लोकतंत्र में यकीन नहीं है। जनता जल्द ही समझ जाएगी कि असली कौन है और नकली कौन? उन्होंने कहा कि भाजपा ने पिछला  लोकसभा चुनाव भावनात्मक मुद्दे उठाकर जीता। उसे विचारधारा, नीतियों या कार्यक्रम पर वोट नहीं मिले। केंद्र ने हर बात को छिपाया है। उन्होंने राष्ट्रवाद के नाम पर कैंपेन चलाई, गेहलोत ने सवाल पूछा कि क्या हम राष्ट्रवादी नहीं हैं? उन्होंने कहा कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के पति का कहना है कि देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू की  आलोचना करने के बजाय पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और पीवी नरसिंहराव की आर्थिक नीतियों को अपनाया जाना चाहिए। गेहलोत ने कहा कि देश की डेमोक्रेसी खतरे में है,  जबकि कांग्रेस ने देश में 70 साल तक लोकतंत्र को जिंदा रखा। राजस्थान के सीएम ने कहा कि सरकार ने काले धन को वापस लाने के बड़े-बड़े वादे किए, लेकिन नोटबंदी के दौरान  काले धन को सफेद कर लिया गया। जीएसटी के बाद टैक्स कलेक्शन घट गया है और राज्यों की वित्तीय सेहत बिगाड़ने में केंद्र का बड़ा हाथ है। भाजपा को इकोनॉमी की समझ ही  नहीं है। गेहलोत ने कहा कि ऐन विधानसभा चुनाव के वक्त राकांपा प्रमुख शरद पवार और प्रफुल्ल पटेल को ईडी का नोटिस भेजा गया। देश में इस वक्त क्या चल रहा है, यह हर  भारतीय को समझने की जरूरत है।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget