रबी फसल का दायरा 22 फीसदी बढ़ा

Wheat Crop
मुंबई
राज्य में रबी के क्षेत्र में 22 फीसदी बढ़ोतरी अपेक्षित है। कुल 69.72 लाख हेक्टेयर क्षेत्र पर रबी की बुआई का नियोजन किया गया है। 2 लाख 3 हजार 772 क्विंटल अनुदानित बीज  इस सीजन के लिए वितरित किए जाएंगे। कृषि विभाग की ओर से बीज और खाद उपलब्ध कराई गई है। रबी सीजन में खाद और बीज की किल्लत नहीं होगी। यह बात मुख्यमंत्री  देवेंद्र फड़नवीस ने कही। सह्याद्रि अतिथिगृह में राज्य में रबी सीजन के नियोजन का जायजा मुख्यमंत्री ने लिया। इस अवसर पर वे बोल रहे थे। बैठक में कृषि मंत्री डॉ. अनिल बोंडे,  सहकारिता मंत्री सुभाष देशमुख, जलसंधारण मंत्री प्रा. राम शिंदे, कृषि राज्यमंत्री सदाभाऊ खोत, मुख्य सचिव अजोय मेहता आदि उपस्थित थे। राज्य में शुरू बेमौसम बरसात से खेती  का बड़ा नुकसान हुआ है। वहां पंचनामे तत्काल पूर्ण कर किसानों को नुकसान भरपाई समय पर देने के लिए प्रशासन द्वारा मिशन मोड पर काम करने के निर्देश भी मुख्यमंत्री ने   इस समय दिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में रबी फसल के रकबे में 56.93 लाख हेक्टेयर की वृद्धि हुई है। इस तरह इसमें 22 फीसदी की बढ़ोतरी अनुमानित है और यह दर 69.72 फीसदी तक होगी। नाशिक, नागपुर, औरंगाबाद, लातूर विभागों में रबी के क्षेत्र में वृद्धि होने का अनुमान है। रबी सीजन में ज्वार, गेहूं, मकई, चना, करडई और अन्य रबी   फसलों के लिए 10 लाख 92 हजार 763 क्विंटल बीज उपलब्ध है। बढ़े हुए क्षेत्र के लिए आवश्यक बीज की उपलब्धता के लिए बीज महाबीज के मार्फत खरीदी की जाएगी। राष्ट्रीय  अन्न सुरक्षा अभियान के अंतर्गत 2 लाख 3 हजार 772 क्विंटल अनुदानित बीज इस वर्ष वितरित किया जाएगा। राज्य में रबी सीजन के लिए 34.10 लाख मेट्रिक टन खाद की मांग  की गई है, जिसका नियोजन किया गया है। बेमौसम बरसात के कारण खेती का नुकसान हुआ है, फिर भी रबी के फसल की तैयारी में किसान लगे हुए हैं, इसलिए जिन क्षेत्रों में  खेती का अधिक नुकसान हुआ है, वहां के किसानों के लिए रबी के सीजन के लिए बीज और खाद की समय पर आपूर्ति की जाएगी।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget