किसानों के लिए 5380 करोड़ की मंजूरी

मुंबई
प्रदेश सरकार ने बेमौसम बारिश से प्रभावित किसानों को राहत दी है। पदभार संभालते ही मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस ने बेमौसम बारिश से प्रभावित किसानों को राहत देने के लिए  5380 करोड़ रुपए की मदद मंजूर की है। मुख्यमंत्री ने महाराष्ट्र कि आकस्मिकता निधि से यह धनराशि मंजूर किया है। सोमवार को मुख्यमंत्री ने ट्वीट करके यह जानकारी दी।  इससे पहले महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लागू होने के बाद राज्यपाल ने किसानों को मदद के लिए 16 नवंबर को फसलों के नुकसान के लिए प्रति हेक्टेयर आठ हजार रुपए और  फलबाग के नुकसान के लिए प्रति हेटेयर 18 हजार रुपए देने का फैसला किया था। राज्यपाल के फैसले के बाद कृषि विभाग ने दो हजार 59 करोड़ 36 लाख रुपए किसानों को  वितरित करने के लिए 18 नवंबर को शासनादेश जारी किया था। मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस ने अपना कामकाज संभाल लिया। पदभार ग्रहण करने के पहले फड़नवीस विधान भवन  पहुंचे थे, जहां राज्य के पहले मुख्यमंत्री स्व. यशवंत राव चव्हाण के स्मृति दिन के मौके पर उनकी प्रतिमा पर फड़नवीस ने माल्यार्पण किया और उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। इस  दौरान मुख्यमंत्री फड़नवीस के साथ केंद्रीय राज्य मंत्री रावसाहेब दानवे पाटिल, पूर्व विधानसभा अध्यक्ष हरिभाऊ बागड़े, सांसद प्रतापराव-पाटिल चिकलीकर, विधायक दिलीप वालसे- पाटिल, छगन भुजबल, सचिव (विधान सभा) राजेश भागवत, उप सचिव विलास आठवले, उप सचिव राजेंद्र तरावी, सचिव महेंद्र राजकुमार आदि उपस्थित थे। वही मुख्यमंत्री पदभार  ग्रहण के वक्त उनके साथ राज्य के मुख्यसचिव अजोय मेहता और इससे संबंधित अन्य अधिकारी मंत्रालय में उपस्थित थे। फड़नवीस ने पदभार  संभालने के बाद पहला हस्ताक्षर  मुख्यमंत्री चिकित्सा सहायता निधी के धनादेश (चेक) पर किया। इस चेक के जरिए दादर में रहने वाली कुसुम वेंगुर्लेकर नाम की महिला को कैंसर के इलाज के लिए एक लाख 20  हजार रुपए की सहायता दी गई। वेंगुर्लेकर का धनवंतरी अस्पताल में कैंसर का इलाज चल रहा है। इलाज के लिए पैसे न होने के चलते उन्होंने मुख्यमंत्री चिकित्सा सहायता निधी के  लिए कुछ दिन पहले अर्जी की थी। कुर्सी संभालते ही मुख्यमंत्री ने सबसे पहले उनकी मदद के लिए जारी चेक पर हस्ताक्षर किए। राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू होने के बाद  मुख्यमंत्री चिकित्सा सहायता निधी बंद हो गई थी। इसलिए मदद की चाह में महाराष्ट्र भर से आने वाले सैकड़ों लोगों को खाली हाथ लौटना पड़ रहा था। इसलिए मुख्यमंत्री सहायता  निधी शुरू होने पर जरूरतमंदों ने एक बार फिर राहत की सांस ली है। इसके पहले शनिवार को देवेंद्र फड़नवीस ने मुख्यमंत्री और अजित पवार ने उपमुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget