80 रुपए पहुंचा प्याज

नई दिल्ली
प्याज की बढ़ती कीमतों से आम आदमी के रसोई का बजट बिगड़ रहा है। दूसरी तरफ सरकार का कहना है कि डिमांड और सप्लाई में संतुलन नहीं होने के कारण कीमतें बढ़ीं।  केंद्रीय खाद्य और उपभोक्ता मामलों के मंत्री रामविलास पासवान ने कहा कि इस महीने के अंत तक प्याज की कीमतें नियंत्रित हो जाएंगी। उन्होंने बढ़ी हुई कीमत के लिए अतिवृष्टि  और कुछ राज्यों में आई बाढ़ को जिम्मेदार ठहराया। पासवान ने यह भी कहा कि तुर्की, अफगानिस्तान से प्याज आयात के लिए भी विदेश मंत्रालय से बातचीत की जा रही है। इस  समय दिल्ली-एनसीआर में प्याज 80 से 100 रुपए प्रति किलो बिक रहा है।

'मांग और आपूर्ति में असंतुलन से बढ़ी कीमतें'
केंद्रीय मंत्री ने सरकार की ओर से पर्याप्त प्रयास का दावा किया। पासवान ने कहा कि प्याज के दाम बढ़ने की वजह है कि मांग और आपूर्ति के बीच संतुलन नहीं बनाया जा सका   है। अतिवृष्टि और बाढ़ के कारण बहुत से राज्यों में फसल बुरी तरह से खराब हो गई। इसके लिए जो भी कदम उठाने थे, वो हमने पहले ही उठाए हैं। हमने प्याज निर्यात को पूरी  तरह से बंद किया। इसके साथ ही 57,000 टन प्याज का बफर स्टॉक भी तैयार किया। अभी भी उसमें से 1500 टन रह गया है, लेकिन इसकी कुछ सीमाएं होती हैं। कुछ ही महीनों 
में प्याज खराब होने लगता है।'

'विदेशों से आयात किया जाएगा प्याज'
पासवान ने प्याज की बढ़ती कीमतों को नियंत्रित करने के लिए आयात करने के प्रस्ताव पर काम करने की भी बात की। उन्होंने कहा कि हम विदेश मंत्रालय से बात कर रहे हैं कि  अफगानिस्तान, तुर्की, मिस्र और कुछ दूसरे देशों से प्याज आयात किया जा सके। हालांकि इसमें हमें देखना होगा कि उन देशों से आनेवाले प्याज की कीमतों में कितना फर्क है।  उम्मीद है कि इस महीने के आखिर तक प्याज के दाम काफी नीचे आ जाएंगे। महाराष्ट्र में बारिश से बढ़ी प्याज की कीमत आपको बता दें कि सरकार के आपूर्ति बढ़ाने और कीमतों  को नियंत्रण में रखने के कदमों के बावजूद दिल्ली में पिछले एक हफ्ते में प्याज का खुदरा मूल्य 45 प्रतिशत बढ़कर 80 रुपए किलो पहुंच गया है। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक, एक  अक्टूबर को प्याज का भाव 55 रुपए किलो था। महाराष्ट्र जैसे प्याज उत्पादक राज्य में भारी बारिश के बाद इस सब्जी की आपूर्ति पर असर पड़ा है। इससे राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली  में प्याज की कीमतें आसमान छू रही हैं।

पिछले साल की तुलना में तीन गुना अधिक कीमतें
आकंड़ों के मुताबिक, प्याज की कीमतों में पिछले साल की तुलना में करीब 3 गुना वृद्धि हुई है। नवंबर 2018 में खुदरा बाजार में प्याज का भाव 30-35 रुपए किलो था।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget