प्रज्ञा का माफीनामा

Pragya Thakur
नई दिल्ली
राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताने के कारण भाजपा सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने शुक्रवार को सदन में दोबारा माफी मांगी। उन्होंने कहा कि  मैंने गोडसे को देशभक्त नहीं कहा। मैंने नाथूराम गोडसे का नाम नहीं लिया, लेकिन यदि किसी को ठेस पहुंची है तो मैं माफी मांगती हूं। इससे पहले भी शुक्रवार सुबह सदन की  कार्यवाही शुरू होने के बाद उन्होंने अपनी सफाई पेश की थी और खेद जताया था। उन्होंने कहा था कि मेरे बयान को तोड़ मरोड़ कर पेश किया गया, लेकिन यदि किसी को ठेस पहुंची  तो उसके लिए मुझे खेद है और मैं माफी मांगती हूं।

राहुल गांधी के खिलाफ विशेषाधिकार हनन नोटिस
लोकसभा में विवादित बयान के लिए माफी मांगने के बाद प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने खुद को 'आतंकवादी' कहने वाले बयान को लेकर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का नोटिस दिया है। आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक प्रज्ञा ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला के कार्यालय को यह नोटिस सौंपा है। इससे पहले प्रज्ञा लोकसभा में   अपनी विवादास्पद टिप्पणी के लिए शुक्रवार को सदन में दो बार माफी मांगी और कहा कि उन्होंने नाथूराम गोडसे को देशभक्त नहीं कहा था तथा उनकी बात को तोड़-मरोड़कर पेश  किया गया है।
गौरतलब है कि प्रज्ञा ने बुधवार को लोकसभा में एसपीजी संशोधन विधेयक पर चर्चा के दौरान उस वक्त विवादित टिप्पणी की थी, जब डीएमके सदस्य ए राजा बोल रहे थे। प्रज्ञा के  विवादित बयान को लेकर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार को ट्वीट किया था कि आतंकवादी प्रज्ञा ने आतंकवादी गोडसे को देशभक्त बताया। यह भारत के संसद के  इतिहास का एक दुखद दिन है। प्रज्ञा ने कहा कि कांग्रेस सांसद ने मुझे आतंकी बुलाकर विशेषाधिकार का हनन किया है। मुझे किसी भी कोर्ट द्वारा दोषी साबित नहीं किया गया।  प्रज्ञा ने लोकसभा स्पीकर ओम बिरला से मांग की कि राहुल के खिलाफ कार्रवाई की जाए। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि लोकसभा सचिवालय शिकायत की जांच करेगी और उसके  बाद ही इसे स्पीकर के सामने पेश किया जाएगा कि इसे विशेषाधिकार कमिटी को सौंपा जाए या रिजेक्ट कर दिया जाए।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget