महापौर को मिली आंनद की हैट्रिक

मुंबई
वर्ली की नगरसेविका किशोरी पेडणेकर जो कि अब मुंबई की महापौर बन गई है, उनका कहना है कि उन्हें शपथग्रहण के दौरान जैसी खुशी मिली वैसी खुशी अब तक कभी नहीं  मिली। उनका कहना है कि उनके जीवन में एक महीने के भीतर तीन एक से बढ़कर एक खुशी के मौके आए, जिससे उनकी जिंदगी में चार चांद लग गए है। महापौर किशोरी  पेडणेकर ने कहा कि उन्होंने कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि वह मुंबई की महापौर बनेंगी और शिवसेना पक्ष प्रमुख ख़ुद राज्य के मुख्यमंत्री होंगे। एक महीने में मिली खुशी की  हैट्रिक से वह खुद भी हतप्रभ है। महापौर ने कहा कि नगरसेवक बनने के बाद हर नगरसेवक का सपना होता है कि वह भी एक दिन महापौर बने। राज्य के विधानसभा चुनाव के  कुछ माह पूर्व तक कभी एहसास भी नहीं था कि ठाकरे घराने का कोई चुनावी मैदान में कूदेगा।
ठाकरे परिवार से युवा सेना प्रमुख आदित्य ठाकरे ने चुनाव लड़ने का निर्णय लिया, वह भी वर्ली ही विधानसभा से। जिस समय चुनाव मतदान संपन्न हुआ उसके बाद से ऐसा लग  रहा था कब चुनाव का परिणाम आए और आदित्य ठाकरे भारी वोटों से जीत हासिल करें। महापौर ने कहा कि चुनाव परिणाम में आदित्य बड़े अंतर से जीते, इसके लिए बहुत मेहनत  किया गया था। उस समय मेरा एक कार्यक्रम 'प्रथम ती' बहुत ही चर्चित हुआ था। जिस तरह चुनाव में कूदने के बाद शिवसेना की ओर से राज्य की जनता का सेवा करने का मौका  मिले इसके लिए एक स्लोगन शिवसेना की ओर से दिया गया था 'हीच ती वेळ' जो अब साकार हुआ है। महापौर का कहना है कि जिस समय आदित्य ठाकरे भारी अंतर से जीत  हासिल किए उस समय खुशी का ठिकाना नहीं था, क्योंकि पहली बार कोई ठाकरे घराने का चुनावी मैदान में कूदा था जिसका हमें सहयोग करने का मौका मिला।
उसके बाद दुसरी खुशी का क्षण मुझे मुंबई का प्रथम नागरिक के सम्मान के तौर पर मिला। वह दिन मेरे लिए सपने जैसा था और खुशी का ठिकाना ही नहीं था। तीसरी बार हैट्रिक  के रूप में खुशी मिली है जब शिवसेना पक्ष प्रमुख उद्धव ठाकरे मुख्यमंत्री बने।
यह क्षण अब जिंदगी भर न भूलने वाला क्षण होगा। शिवसेना का वर्ली से कितना अटूट नाता है इसी में दिखाई पड़ता है और मेरे लिए सौभाग्य है कि इस बार महापौर का पद खुला  प्रवर्ग में होने के बावजूद एक महिला को महापौर बनाया गया। एक महीने में तीन बार एक साथ इतनी खुशी जीवन मे कभी नहीं मिली थी। यह दिन मेरे लिए और सभी शिवसैनिकों  के लिए न भूलने वाला दिन होगा। शिवसेना का मैं कभी भी यह कृतज्ञ भूल नही पाऊंगी और शिवसेना पक्ष प्रमुख की ऋणी रहूंगी।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget