ठेकाकर्मी मनपा पर निकालेंगे महामोचा

नवी मुंबई
 मनपा में घनकचरा प्रंबधन, सीवरेज, बिजली, जतापूर्ति सहित विभिन्न विभागों में कार्यरत करीब साढ़े छह हजार ठेकाकर्मियों के 14 महीनों के न्यूनतन वेतन में 90 करोड़ रुपए का  अंतर पाया गया है। इसी तरह कचरा ढोने वाले कामगारों के 43 महीनों के न्यूनतम वेतन के अंतर को तत्काल पूरा किए जाने की मांग स्थानीय मनसे नेतृत्व ने की है। इसे दिलाने  के लिए मनसे गुरूवार की सुबह नौ बजे सिवूड्स रेलवे स्टेशन स्थित उड़ानपुल के नीचे से थालीनाद महा मोर्चा निकालेगी, जो मनपा मुख्यालय पर पहुंचने के बाद सभा में परिवर्तित  हो जाएगी। इस महामोर्चा का नेतृत्व खुद अमित ठाकरे करेंगे।
 मोर्चे में लगभग चार से पांच हजार संविदा कर्मी शामिल होंगे। महाराष्ट्र में यह पहला महा मोर्चा होगा, जिसका नेतृत्व  खुद अमित राज ठाकरे करेंगे, जिसकी शुरुआत नवी मुंबई से होगी। मनसे के नवी मुंबई शहर अध्यक्ष गजानन काले ने मंगलवार को आयोजित पत्रकार परिषद में कहा कि फरवरी  2015 में राज्य सरकार के फैसले के मुताबिक ठेका  श्रमिकों को न्यूनतम वेतन अंतर को देने के प्रस्ताव को मंजूरी दी गई। इसे लेकर मनपा की बजट में इसका प्रावधान भी किया  गया है। इतना ही नहीं इसे महासभा की मंजूरी भी मिल गई है। इसके बावजूद इस साल का नवंबर महीना बीतने वाला फिर भी ठेका श्रमिकों के 14 महीने के न्यूनतम वेतन का 90  करोड़ रुपए नहीं दिया गया है। इसके साथ ही उच्च न्यायालय का आदेश होने पर भी कचरा ढोने वाले श्रमिकों को 43 महीने का बकाया राशि नहीं मिला है। मनसे का प्रतिनिधिमंडल  मनपा आयुक्त, अतिरिक्त आयुक्त और शहर अभियंता के साथ मुलाकात कर इस आशय का निवेदन भी दे चुकी है, लेकिन श्रमिकों के मामले में किसी तरह का ठोस निर्णय नहीं  लिया गया। इसी के चलते इस महा मोर्चे का आयोजन किया जा रहा है।

Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget