तीस हजारी हिंसा की न्यायिक जांच के आदेश

नई दिल्ली
दिल्ली हाईकोर्ट ने तीस हजारी कोर्ट में वकीलों और पुलिस के बीच हुई हिंसक झड़प की न्यायिक जांच के आदेश दिए हैं। यह न्यायिक जांच रिटायर जस्टिस एसपी गर्ग के नेतृत्व में  की जाएगी। इस जांच में सीबीआई के डायरेक्टर, आईबी के डायरेक्टर, विजिलेंस डायरेक्टर या सीनियर अधिकारी मदद करेंगे। हाईकोर्ट ने दिल्ली पुलिस कमिश्नर को भी आदेश दिया  कि घायल वकीलों के बयान दर्ज किए जाएं। साथ ही आरोपी पुलिस अधिकारियों को निलंबित किया जाए और मामले की आंतरिक जांच के लिए स्वतंत्र कमीशन गठित किया जाए।  इस कमीशन को भी 6 सप्ताह में जांच पूरी करनी होगी और अदालत को रिपोर्ट देनी होगी। कोर्ट ने स्पेशल सीपी संजय सिंह और अतिरिक्त डीसीपी हरिंदर सिंह को जांच पूरी होने  तक स्थानांतरित करने के आदेश भी दिए हैं। इसके अलावा हाईकोर्ट ने दिल्ली सरकार को कहा कि वह घायल वकीलों का एम्स में इलाज कराया जाए। साथ ही घायल वकील विजय  वर्मा को 50 हजार रुपए और दो अन्य वकीलों को क्रमश: 15 हजार और 10 हजार रुपए मुआवजा दे। दिल्ली हाईकोर्ट ने कहा कि इस मामले की जांच छह सप्ताह में पूरी की जाए।  इससे पहले दिल्ली हाईकोर्ट ने तीस हजारी कोर्ट में हिंसक झड़प मामले को संज्ञान लिया और पुलिस को नोटिस जारी कर जवाब मांगा। इस पर दिल्ली पुलिस ने अपने जवाब में  सफाई देते हुए हाईकोर्ट को बताया कि तीस हजारी हिंसा मामले की जांच के लिए स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम (एसआईटी) का गठन किया गया है। साथ ही मामले की जांच क्राइम ब्रांच  की एसआईटी को ट्रांसफर कर दी गई है। पुलिस ने हाईकोर्ट को यह भी बताया कि वकील को लॉकअप में बंद करने वाले असिस्टेंट सब-इंस्पेक्टर को निलंबित कर दिया गया है।  हालांकि हाईकोर्ट दिल्ली पुलिस की दलीलों से संतुष्ट नहीं हुआ। वहीं, दिल्ली हाईकोर्ट बार एसोसिएशन के अध्यक्ष ने कहा कि वकीलों के चेंबरों में हमला किया गया और तोड़फोड़ की  गई। हम दिल्ली हाईकोर्ट के रिटायर जज की निगरानी में मामले की जांच की मांग करते हैं। साथ ही मामले में संदिग्ध पुलिस अधिकारियों को फौरन निलंबित करने की मांग करते  हैं। वहीं इस घटना के बाद की स्थिति पर चर्चा करने के लिए दिल्ली हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश डीएन पटेल ने वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों से मुलाकात की थी। शनिवार रात हुई  बैठक में दिल्ली हाईकोर्ट के कुछ न्यायाधीश भी मौजूद रहे। इसके अलावा दिल्ली हाईकोर्ट के तीन वरिष्ठ न्यायमूर्तियों ने गोली लगने से घायल हुए वकील विजय वर्मा से सेंट स्टीफंस  हॉस्पिटल में मुलाकात की।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget