उद्धव ठाकरे होंगे महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री

28 नवंबर को शिवतीर्थ पर शपथ ग्रहण का भव्य समारोह

Uddhav Thakare
मुंबई
शिवसेना सुप्रीमो उद्धव ठाकरे महाराष्ट्र के अगले मुख्यमंत्री होंगे। सीएम देवेंद्र फड़नवीस के इस्तीफे के बाद मंगलवार को मुंबई के ट्राइडेंट होटल में शिवसेना, एनसीपी, कांग्रेस और  कुछ छोटे दलों की संयुक्त बैठक में महा विकास आघाड़ी का औपचारिक तौर पर गठन हुआ। उद्धव ठाकरे को नवगठित महा विकास आघाड़ी का नेता चुना गया। उद्धव ठाकरे  फिलहाल विधायक नहीं हैं। मुख्यमंत्री बनने के बाद 6 महीनों के भीतर ही उन्हें विधानसभा या विधान परिषद का सदस्य बनना जरूरी होगा। बालासाहेब होते तो बहुत खुश होते :  पवार महाविकास अघाड़ी के नेता और मुख्यमंत्री के तौर पर उद्धव ठाकरे के नाम का प्रस्ताव पास होने के बाद राकांपा चीफ शरद पवार ने कहा कि राज्य में बदलाव की जरूरत थी।  बालासाहेब ठाकरे का जिक्र करते हुए शरद पवार ने कहा कि वह काफी हाजिरजवाब थे। अगर आज वह होते, तो बहुत ज्यादा खुश होते। पवार ने कहा कि महाविकास आघाड़ी के 3  प्रतिनिधि राज्यपाल से मिले और सरकार बनाने का दावा पेश किया।

उद्धव ने पवार-सोनिया को कहा धन्यवाद
महा विकास अघाड़ी का नेता चुने जाने के बाद उद्धव ठाकरे ने राकांपा चीफ शरद पवार और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी का खास तौर पर आभार जताया। उन्होंने कहा कि आप  लोगों ने मुझे अपना नेता चुना है। हम सब एक परिवार की तरह काम करेंगे। आम आदमी को लगना चाहिए कि यह उनकी सरकार है। इस मौके पर उन्होंने अपने पिता बालासाहेब  ठाकरे को याद किया। उद्धव ने कहा कि कभी सोचा नहीं था कि मैं सीएम बनूंगा। उन्होंने कहा कि सीएम की कुर्सी में बहुत कीलें होती हैं। संघर्ष के समय बालासाहेब की बहुत याद  आती है।

विचारधारा से कोई समझौता नहीं किया : उद्धव
उद्धव ठाकरे ने यह भी स्पष्ट करने की कोशिश की कि शिवसेना ने हिंदुत्व की विचारधारा से समझौता नहीं किया है। उन्होंने कहा कि मेरे हिंदुत्व में किसी तरह का झूठापन नहीं है।  वे कह रहे हैं कि हमने शिवसेना के आदर्शों का उल्लंघन किया, लेकिन मैं बताना चाहता हूं कि उनको पालकी में बिठाने के लिए शिवसेना की स्थापना नहीं हुई थी। उद्धव ने पीएम  मोदी से जल्द मिलने के दिए संकेत उद्धव ने यह भी संकेत दिया कि वह जल्द ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलने दिल्ली जाएंगे। उन्होंने कहा कि सरकार बनने के बाद बड़े भाई से  मिलने के लिए दिल्ली जाने वाला हूं। देवेंद्र फड़नवीस की प्रेस कांफ्रेंस के बाद लगा कि यह रिश्ता अब नहीं रहना चाहिए। भाजपा पर तंज कसते हुए शिवसेना चीफ ने कहा कि  विपरीत विचारधारा वाले लोगों ने मुझपर भरोसा कर लिया, लेकिन जिन समान विचारधारा वाले लोगों के साथ मैं 30 सालों से था, उन्होंने मुझपर भरोसा नहीं किया। बैठक में शरद  पवार, उद्धव ठाकरे, अशोक चव्हाण समेत शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस के तमाम बड़े नेता और नवनिर्वाचित विधायक शामिल हुए। समाजवादी पार्टी के नेता अबू आजमी भी बैठक   में मौजूद रहे। उनके अलावा, स्वाभिमानी पक्ष के नेता राजू शेट्टी भी बैठक में शामिल हुए। खास बात यह रही कि डेप्युटी सीएम पद से इस्तीफा देने वाले अजित पवार बैठक में 
शामिल नहीं हुए।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget