योगी ने की सीबीआई जांच की सिफारिश

लखनऊ
योगी आदित्यनाथ सरकार ने अपनी भ्रष्टाचार पर जीरो टालरेंस की नीति के तहत एक बार फिरडीएचएफएल मामले में बड़ी कार्रवाई की है। इसी क्रम में रविवार को सीएम योगी ने ऊर्जा विभाग  में 45000 कर्मचारियों के 2268 करोड़ रुपए के पीएफ घोटाला मामले की जांच सीबीआई को सौंपने की सिफारिश की है। सीएम ने सीबीआई जांच कराने का पत्र केंद्र सरकार को भेज दिया है, साथ  ही पूरे मामले की जांच डीजी ईओड ल्यू करेंगे। इससे पहले शनिवार को पीपीसीएल कर्मियों का पीएफ डीएचएफएल में जमा कराने वाले तत्कालीन निदेशक वित्त सुधांशु द्विवेदी और महानिदेशक  पी.के. गुप्ता के खिलाफ न सिर्फ एफआईआर दर्ज करा दी है, बल्कि पुलिस ने दोनों को तत्काल गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।
वहीं विभिन्न विद्युत कर्मचारी संगठन के लोग सीएम योगी से सीबीआई से जांच कराने की मांग कर रहे थे। साथ ही सरकार ने डीएचएफएल में फंसे यूपीपीसीएल कर्मियों के करीब 1600 करोड़  रुपए को निकालने के लिए भी अपने स्तर से हर संभव प्रयास शुरू कर दिए हैं। सीएम योगी आदित्यनाथ और उर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा के निर्देश पर इस पूरे मामले की जांच नए सिरे से शुरू कर दी गई है। इसमें दोषी मिलने पर यूपीपीसीएल के अन्य आला-अधिकारियों के खिलाफ भी जल्द कड़ी कार्रवाई की जा सकती है।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget