गया में शौचालय घोटाला

गया
 बिहार के गया में शौचालय निर्माण में घोटाला का मामला सामने आया है। यहां के मानपुर में अधूरा निर्माण करवा मुखिया अपने गुर्गोंकी मदद से जबरन राशि निकलवा ली। मामला गया जिले    मानपुर प्रखंड के पंचायत बारागंधार के ग्राम सि€हर में देखने का है, जहां स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत शौचालय निर्माण में जमकर धांधली हुई। सरकारी रिकॉर्ड की बात करें तो सि€हर ओडीएफ  ग्राम घोषित हो चुका है, लेकिन ग्राउंड रिपोर्ट कुछ और ही कहती है। मानपुर प्रखंड के पंचायत बारागंधार, वार्ड संख्या 10, ग्राम-सि€हर महादलित टोले के रहने वाले स्थानीय लोगों ने बताया कि  यहां पर 300 सौ से अधिक महादलितों का आबादी है। मुखिया पप्पू मियां द्वारा शौचालय बनवाया गया। दिलचस्प बात यह है कि मुखिया पप्पू मियां के साथ में रहने वाले टिंकू मियां पहले  शौचालय का अधूरा निर्माण कराया और वह भी घटिया निर्माण के चलते शौचालय में लगे ईट, प्लास्टर टूट गया है जो हालात आज बद से बदतर है। मुखिया ने अधूरा निर्माण के बाद लाभान्वित  के अकाउंट में जो 12 हजार रुपए की प्रोत्साहन राशि आई उसे अपने गुर्गों की मदद से जबरन निकलवा लिया। लोगों का आरोप है कि शौचालय निर्माण में पंचायत के सरपंच, सचिव और मुखिया द्वारा जमकर धांधली की गई है जबकि सरकार की तरफ से एक स्वस्थ्य शौचालय निर्माण करने के लिए 12 हजार रुपए प्रोत्साहन राशिके तौर पर मिलते हैं। शौचालय निर्माण संबंधित  अधिकारियों द्वारा बिना जांच के प्रखंड को ओडीएफ घोषित करने से भी सवाल खड़े हो रहे हैं। इस संबंध में जब मानपुर बीडीओ अभय कुमार से बात की गई तो उन्होंने कहा कि नियमानुसार  शौचालय निर्माण होने पर लाभान्वित के खाते में 12 हजार रुपए प्रोत्साहन राशि का प्रावधान है। लाभान्वित के खाते से पैसा निकलवाकर लेने की बात हमें आप लोगों द्वारा ही बताई गई है।  बीडीओ ने कहा कि जहां तक अनियमितता की बात है तो जांच कमेटी गठित कर जांच की जाएगी। रिपोर्ट के आधार पर उन पर उचित कार्रवाई की जाएगी। 

Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget