इच्छाशक्ति से सब कुछ संभव है

आज के 10 साल पहले यदि कोई यह कहता कि आर्टिकल 370 समाप्त हो सकता है। तीन तलाक बिल पास हो सकता है, तो लोग उसे बावला कहते। कारण कांग्रेस और उस जैसे  तमाम दलों ने शुरू से ही इन बिंदुओं को लेकर ऐसा माहौल बनाया था कि यह काम असंभव लगता था। भाजपा की 2014 के पहले गठबंधन की अपनी मजबूरियां थीं, इसलिए वह  अपनी इन कोर मुद्दों पर कुछ नहीं कर पा रही थी, परंतु 2014 के बाद जब मोदी के नेतृत्व में उसे स्पष्ट जनादेश मिला, तो उसके बाद से उसने एक-एक कर अपने कोर मुद्दों पर  काम करना शुरू कर दिया और मोदी युग में भाजपा ने वह करके दिखा दिया, जो कांग्रेसकाल में असंभव माना जा रहा था। इसने दुनिया को अचकचा कर रख दिया है और देश को  दुनिया में नई पहचान दे दी है, नई गरिमा प्रदान कर दी है देश एक से एक जटिल मुद्दों का समाधान करता हुआ, नया इतिहास रचता हुआ पांच ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था  बनने की ओर तेजी से कदम बढ़ा रहा है। किसी भी सरकार के लिए पांच-छह साल का समय कम होता है, परंतु मोदी युग ने इस समय में ही एक नया इतिहास रच दिया और वह  भी शांतिपूर्वक। यह कोई छोटी-मोटी बात नहीं है। देश की जनता यह मान चुकी थी कि अनुच्छेद 370 कभी नहीं हट सकता। पाकिस्तान का आंतकी कारोबार कभी बंद नहीं होने  वाला। परंतु इन सब बातों को प्रधानमंत्री मोदी की सरकार ने समाप्त कर दिया है। इस पर सुनहारा कलश अब उच्चतम न्यायालय ने राम मंदिर विवाद पर अपने फैसले से लगा  दिया है। इस फैसले में सर्वोच्च न्यायालय के न्यायमूर्तियों ने सभी पक्षों के समाधान का रास्ता निकालते हुए सदियों से विवाद के कारण को ही समाप्त कर दिया है और जैसा कि  प्रधानमंत्री ने अपने राष्ट्र के नाम संबोधन में कहा है कि इससे देश में विकास के लिए नए पर्व की शुरुआत होगी। कारण अब ऐसा कोई मुद्दा नहीं है, जो दो संप्रदायों में खाई का  निर्माण करने के लिए उपयुक्त हो सके। विधायिका ने इसकी खबरदारी 1991 के एक कानून से पहले ही ली है। जिस तरह इस फैसले का पूरे देश के हर वर्ग ने, वादी-प्रतिवादी दोनों   संप्रदायों नेे अभिनंदन किया है, यह उत्साहवर्धक है। यह किसी की हार और जीत नहीं, बल्कि देश के कानून की जीत है और उस इच्छाशक्ति की जीत है, जिसे किसी भी जिम्मेदार   पद पर बैठे व्यक्ति को दिखानी पड़ती है। भाजपा द्वारा शुरू से उठाए गए तीनों मुद्दों में से दो पर देश की अवाम को सकारात्मक परिणाम मिल गया है। एक उसकी सरकार और  नेतृत्व ने पूरा किया और दूसरा न्यायालय के फैसले से समाप्त हो चुका है। परंतु इसको सतत् चलाए रखने में भाजपा की भूमिका और जनता के श्रम और शहादत को कोई भुला  नहीं सकता। अब जैसा माहौल और समझदारी हमारे समाज के विभिन्न घटकों के मध्य इन दो एतिहासिक फैसलों के बाद दिख रहा है और जैसी एकजुटता का प्रदर्शन देश चाहे वह  पाक से निपटने की बात हो या चीन को उसकी औकात बताने की बात हो कर रहा है और जिस तरह हम विकास के हर पायदान पर आगे भाग रहे हैं तथा दुनिया की आंख का तारा  बन रहे हैं, उसमें हमें लेकर एक नई उम्मीद, एक नई आशा का संचार कर रहे हैं। उसे पूरा करने में पूरे मनोयोग से लग जाएं और जैसे प्रधानमंत्री ने कहा है नई सुबह का उपयोग  नए भारत के नव निर्माण में लगाएं। मोदी सरकार की उस इच्छाशक्ति को सलाम करते हुए, जिसने दशकों से असंभव लग रहे काम को संभव बनाया उसे बढ़ाने में हर संभव  योगदान दें, समर्थन दें। यही आज की मांग है। हमारा शांत संयमित व्यवहार, हमारी एकजुटता और हर संभव समर्थन इसमें चार चांद लगा सकता है।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget