मूडीज ने घटाई भारत की रेटिंग

Moodys
नई दिल्ली
क्रेडिट रेटिंग एजेंसी मूडीज इन्वेस्टर्स सर्विस ने भारत की क्रेडिट रेटिंग को स्टेबल से नेगेटिव करने के लिए दृष्टिकोण बदल दिया है। हालांकि, भारत सरकार इकॉनमी के फंडामेंटल्स  मजबूत होने का दावा कर रही है। भारतीय अर्थव्यवस्था में सुस्ती के बीच मूडीज ने यह बड़ा अनुमान व्यफ्त किया है। मूडीज ने बीएए2 रेटिंग की पुष्टि की है और उसका मानना है  कि इकोनॉमी में सुस्ती का जोखिम बढ़ता जा रहा है।
मूडीज द्वारा रेटिंग नेगेटिव करने के बाद सरकार का कहना है कि एजेंसी ने भारत की रेटिंग घटाई, लेकिन भारतीय अर्थव्यवस्था सबसे तेज गति से आगे बढ़ रही है। मूडीज  इन्वेस्टर्स सर्विस के अनुसार भविष्य में लंबे समय तक आर्थिक मंदी की अटकलें बनी रहेंगी और कर्ज बढ़ेगा। मालूम हो कि एजेंसी ने भारत के लिए बीएए2 विदेशी मुद्रा और स्थानीय-मुद्रा दीर्घकालिक जारीकर्ता रेटिंग की पुष्टि की है। दरअसल, एजेंसियों द्वारा भारतीय अर्थव्यवस्था की ग्रोथ के अनुमान में कमी करने के बाद भारत की रेटिंग में यह गिरावट  रेटिंग है। साथ ही भारतीय अर्थव्यवस्था कमजोर डिमांड के कारण बुरे दौर से गुजर रही है। हालांकि, सरकार अभी भी कह रही है कि भारत दुनिया में तेजी से विकास कर रही बड़ी   अर्थव्यवस्थाओं में शुमार है। गौरतलब है कि मोदी सरकार का लक्ष्य साल 2025 तक भारत की अर्थव्यवस्था को पांच ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाना है, वहीं दूसरी तरफ  रेटिंग एजेंसियां भारत के लिए जीडीपी ग्रोथ अनुमान को लगातार कम कर रही हैं, जो कि चिंता की बात है।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget