महिलाओं ने दिया सूर्य को अघ्य

लखनऊ
 उदयमान सूर्य को अर्घ्य और प्रसाद वितरण के साथ 36 घंटे के निर्जला व्रत का महिलाओं ने पारण किया। शनिवार की शाम अस्ताचलगामी सूर्य को अर्घ्य देने के बाद सुबह उसी स्थान पर एक  बार फिर महिलाओं ने पूजा अर्चना की और उगते सूर्य को अर्घ्य दिया। सूर्योदय के पहले से ही घाटों पर श्रद्धालुओं के आने का सिलसिला शरू हो गया था। लक्ष्मण मेला स्थल का नजारा देखते ही  बन रहा था। सुबह की ठंड से दूर आस्था की गर्मी श्रद्धलुओं के अंदर देखते ही बन रही थी। व्रती महिलाओं ने सूर्य को अर्घ्य देने के साथ मौसमी फल सेव, अनार, चीकू, गन्ना, सिंघाड़ा, कंद, हल्दी  और अदरक, मूली सहित 36 प्रकार के फल एवं सब्जियों के साथ छठ पूजनकिया। घाटों पर कलाकारों द्वारा लोकगीतों से माहौलपूरी तरह भक्तिमय हो गया।
 छठ महापर्व पर श्रद्धालुओं एवं व्रतियों में उत्साह देखते ही बन रहाथा। व्रती महिलाएं एवं श्रद्धालु बैंडबाजों केसाथ घाट पर पहुंचे। इससे पूरा माहौल भक्तिमय हो गया। महिलाएं और पुरुष अपने  सिर परटोकरी और उसमें फल-फूल एवं पूजा का सामान लेकर बैंडबाजों के साथ घाटों पर पहुंचे। सूर्य को अर्घ्य देने से पहले महिलाओं ने लोकगीत गाते हुए पूजन किया। शाम को कल शाम की  अस्ताचलगामी सूर्य को अर्घ्य देने के बाद सुबह उसी स्थान पर एक बार फिर महिलाओं ने पूजा-अर्चना की और उगते सूर्य का अर्घ्य दिया।
सूर्योदय के पहले से ही घाटों पर श्रद्धालुओं के आने का सिलसिला शुरू हो गया था। छठ गीतों के साथ महिलाओं ने पूजन किया और साथी महिलाओं को नाक से मांग तक सिंदूर लगा कर व्रती  महिलाओं ने आशीर्वाद भी दिया। खाटू श्याम मंदिर, पंच मुखी हनुमान मंदिर और खदरा के शिव मंदिर घाट के अलावा शहर के मुहल्लों में भी सुबह अर्घ्य देकर महिलाओं ने व्रत का पारण किया।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget