होटल में शिकांरा विधायकों की परेड

mahavikas Aghadi
मुंबई
हयात का अर्थ जिंदगी होता है और मुंबई के इस होटल से शायद शिवसेना, कांग्रेस और राकांपा (शिकांरा) गठबंधन ने नई जिंदगी की तलाश में शक्ति प्रदर्शन किया। शनिवार को देवेंद्र फड़नवीस के मुख्यमंत्री और अजित पवार के उपमुख्यमंत्री पद की शपथ के बाद झटके से उबरने की कोशिश में तीनों दलों ने 162 विधायकों की परेड कराई। यही नहीं सभी विधायकों को राकांपा के नेता जितेंद्र आव्हाड ने गठबंधन के साथ रहने की शपथ दिलाई। इससे पहले उद्धव ठाकरे ने भाजपा पर हमला बोला। बेहद उत्साहित नजर आ रहे उद्धव ठाकरे ने कहा कि अब तो एक कैमरे में सबकी तस्वीर नहीं आएगी। दोस्त बढ़ गए हैं। उनके बाद बोलते हुए शरद पवार ने अजित पवार पर वार करते हुए अपने विधायकों को   साधने की कोशिश की। उन्होंने कहा कि गलत तरीके से सरकार बनाई।
शरद पवार ने पार्टी की एकजुटता की जिम्मेदारी लेते हुए कहा कि कोई भी पार्टी के खिलाफ नहीं जाएगा, इसकी जिम्मेदारी मेरी है। आप लोग किसी भी तरह के बहकावे में न आएं।  अब वह कोई फैसला नहीं ले सकते, जो अवैध काम करेगा, उसे सबक सिखाने का काम हम तीनों दल करेंगे। शिवसेना, राकांपा और कांग्रेस के नेताओं के भाषणों के बाद सभी विधायकों को गठबंधन में रहने की शपथ दिलाई गई। इन विधायकों को शपथ दिलाई गई कि सोनिया गांधी, शरद पवार और उद्धव ठाकरे के नेतृत्व में हम एक साथ रहने की शपथ  लेते हैं। महाराष्ट्र ने भाजपा के खिलाफ मत दिया है और हम उन्हें मदद पहुंचाने जैसा कोई काम नहीं करेंगे। इस समय कांग्रेस के दिग्गज और सपा के अबू आजमी, राकांपा के  सीनियर नेता छगन भुजबल और अजित पवार की जगह विधायक दल के नेता चुने गए जयंत पाटिल भी बैठक का हिस्सा रहे। कांग्रेस से पूर्व सीएम पृथ्वीराज चव्हाण, अशोक  चव्हाण के अलावा कांग्रेस के दिग्गज नेता और विधायक बालासाहेब थोरात भी इस बैठक में मौजूद थे।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget