घातक है पसीने की दुर्गंध

Body Audor
पसीना लगभग सभी लोगों को आता है। हां, यह अवश्य है कि धिकतर लोगों को पसीना गर्मी के मौसम में ही आता है मगर कुछ लोग ऐसे भी हैं, जिन्हें सर्दी के दिनों में भी पसीने  से मुक्ति नहीं मिलती और उनके शरीर में से उठने वाली दुर्गंन्ध के कारण दूसरे व्यक्ति उनके पास बैठना तक पसंद नहीं करते।
चिकित्सकों के अनुसार जब शरीर से पसीना निकलता है तो उसके साथ प्रोटीन, वसा व नमक आदि पदार्थ निकलते हैं मगर पसीने का वाष्पीकरण न हो पाने से शरीर के बैक्टीरिया  पसीने में स्थित वसा व प्रोटीन को अमोनिया व अ्लों में बदल देते हैं जिस कारण पसीने से दुर्गंध आने लगती है।

इससे बचने के लिए न्नि उपाय प्रयोग में लाइए

  • जो वस्त्र आप एक बार पहन चुके हों, उन्हें दुबारा धोकर ही पहनें क्योंकि जब पसीने के जीवाणु वस्त्रों पर हमला बोलते हैं तो उसमें उपस्थित वसा, यूरिया आदि से क्रिया कर बदबू  पैदा करते हैं इसलिए एक बार पहन कर वस्त्रों को धो कर ही पहनना चाहिए।
  • शरीर को पसीने की दुर्गंध से बचाने के लिए हमेशा साफ सुथरे रहें। गनहाने के लिए उत्तम साबुन का प्रयोग ही करें।
  • यदि पसीने में ज्यादा दुर्गंध हो तो नहाते वक्त पानी में सिरका मिला लें, क्योंकि सिरके में अ्ल नामक तत्व होता है जो पसीने के जीवाणुओं को आपके शरीर के पास नहीं आने देगा।
  • स्नान करने के बाद शरीर पर टेल्कम पाउडर लगाएं।
  • तली-भुनी वस्तुओं का अधिक सेवन न  करें।
  • दिन में 8-10 गिलास पानी अवश्य पिएं।
  • भोजन में दही, सलाद, फलों का रस आदि उचित मात्रा में लें।

- भाषणा बांसल

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget