बीएसएनएल-एमटीएनएल के लिए सरकार का रिवाइवल प्लान तैयार

नई दिल्ली
केंद्र सरकार ने सरकारी स्वामित्व वाली टेलीकॉम कंपनियों भारत संचार निगम लिमिटेड (बीएसएनएल) और महानगर टेलीफोन निगम लिमिटेड (एमटीएनएल) के लिए एक रिवाइवल  प्लान तैयार किया है। इस प्लान के तहत कर्मचारियों को लिए वॉलेंटिरी रिटायरमेंट स्कीम (वीआरएस) लांच की गई है। अब सरकार ने इस वॉलेंटिरी स्कीम को लांच करने की वजह   बताई है।

देश के रणनीतिक एसेट्स हैं बीएसएनएल-एमटीएनएल
दूरसंचार मंत्री रविशंकर प्रसाद ने एक सवाल के जवाब में गुरुवार को राज्यसभा में कहा कि बीएसएनएल और एमटीएनएल देश के रणनीतिक एसेट्स हैं, यही कारण है कि इनको रिवाइव करने का फैसला किया है। केंद्रीय मंत्री ने बताया कि बीएसएनएल की कर्मचारी लागत कुल राजस्व में से 75.06 फीसदी है, जबकि एमटीएनएल की 87.15 फीसदी है। वहीं  निजी कंपनी एयरटेल की कर्मचारी लागत कुल 2.95 फीसदी, वोडाफोन की 5.59 फीसदी और रिलायंस जियो की 4.27 फीसदी है। यदि वोडाफोन से तुलना की जाए तो बीएसएनएल  की कर्मचारी लागत 12 गुना से ज्यादा है। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि कर्मचारी लागत के ज्यादा बोझ को वीआरएस के जरिए कम किया जा सकता है और हम कर्मचारियों को आकर्षक  पैकेज देने जा रहे हैं। प्रसाद ने कहा कि यह सरकार और मेरी भी इच्छा है कि इन कंपनियों को रिवाइव किया जाए और इनको प्रोफेसनल बनाया जाए।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget