बाबा रामदेव को लगा झटका

रुचि सोया अधिग्रहण डील के लिए कर्ज देने को तैयार नहीं एसबीआइ

Baba Ramdev
नई दिल्ली
पतंजलि आयुर्वेद की तरफ से रुचि सोया को खरीदने की कोशिशों को बड़ा झटका लगा है। स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने खाद्य तेल बनाने वाली कंपनी को खरीदने से जुड़ी डील के लिए  पतंजलि आयुर्वेद को अकेले फंडिंग करने से मना कर दिया है। एक खबर के मुताबिक इस डील में बैंक की तरफ से 3700 रुपए का लोन दिया जाना था।

कंपनी पर पहले से ही है कर्ज का बोझ
बता दें कि कंपनी पर पहले से कर्ज का बोझ है। कंपनी पर सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया का 816 करोड़, पंजाब नेशनल बैंक का 743 करोड़, स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक का 608 करोड़ और डीबीएस  का 243 करोड़ रुपए कर्ज है। बाबा रामदेव की कंपनी पतंजली कर्सोटियम अधिग्रहण प्राइवेट लिमिटेड ने कर्ज में डूबी रुचि सोया को खरीदने के लिए 4325 करोड़ रुपए की बोली  लगाई थी।

बैंक जोखिम उठाने की स्थिति में नहीं
एसबीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि हमने निर्णय किया है कि इस सौदे से जिन अन्य बैंकों को फायदा होना है वह भी इस लोन में अपनी हिस्सेदारी दें। एसबीआई  अकेले पूरा लोन नहीं देगी। पतंजली एक बहुराष्ट्रीय कंपनी नहीं है और इसकी वित्तीय स्थिति के बारे में भी बहुत ज्यादा जानकारी नहीं है। इसलिए बैंक इस समय जोखिम उठाने की  स्थिति में नहीं है। एसबीआई के इस निर्णय के बाद अब पतंजली फंड की व्यवस्था के अन्य वैकल्पिक उपायों पर विचार कर रही है। बता दें की कंपनी का यह सौदा 4,350 करोड़  रुपए का है। इसमें कंपनी 3,700 करोड़ रुपए से अधिक का कर्ज बैंकों से लेना चाहती है और 600 करोड़ रुपए का इंतजाम वह अपने स्तर पर करेगी।
Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget